पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वारदात:बड़हरिया थाने के चौकीदार की हत्या कर शव को पेड़ पर टांगा

बड़हरिया20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चौकीदार का शव मिलने के बाद रोते बिलखते परिजन - Dainik Bhaskar
चौकीदार का शव मिलने के बाद रोते बिलखते परिजन
  • शनिवार शाम को गांव में ही तिलक समारोह में गया था, सुबह मिला शव
  • घर से 200 मीटर पर मिला शव, मोबाइल भी था स्विच ऑफ

जगतपुरा मठिया परिसर में बड़हरिया थाने के चौकीदार की हत्या कर शव नीम के पेड़ पर टांग दिया गया। इससे क्षेत्र में दहशत है। मृतक जगतपुरा मठिया के स्व. रेखा रंगवा का 32 वर्ष पुत्र नागेंद्र प्रसाद था। उसकी पत्नी ममता के अनुसार वह शनिवार की देर शाम पड़ोस में ही तिलक समारोह में गया था। वह थाना पहुंचा या नहीं यह जानने के लिए जब उसने फोन किया तो फोन स्वीच आॅफ मिला। घटनास्थल मृतक के घर से करीब दो सौ मीटर है। पुलिस हत्या के कारणों को तलाशने में जुट गयी है। सुबह शौच के लिए निकले ग्रामीणों ने पेड़ से साड़ी के फंदे से लटकते चौकीदार का शव देखा तो घटना की जानकारी पुलिस को दी। थानाध्यक्ष प्रवीण प्रभाकर, दारोगा राजेश कुमार, एसआई राजकुमार कश्यप, एसआई सैयद हसन घटनास्थल पर पहुंचे और शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए सीवान भेज दिया। जानकारी के अनुसार पिता की मौत के बाद अनुकंपा पर उसे करीब आठ साल पहले नौकरी मिली थी। उसका पिता भी चौकीदार ही था। उसका एक भाई विदेश में रहता है। मृतक के चार बच्चे हैं।

ढीला पाया गया गले में लगा फंदा
पुलिस का कहना है कि घटना काली मंदिर के पास की है। नीम के पेड़ से जिस साड़ी से उसे फंदा लगाया गया था, वह ढीला था। साड़ी में ही उसे लपेट दिया गया था। जबकि उसके गले में किसी भी तरह का कोई निशान नहीं है। न ही किसी के पैर का निशान मिला है। इसलिए, यह घटना संदेहास्पद लग रहा है। जिस साड़ी के फंदे से लटकता हुआ था वह गले मे साड़ी ढीली थी। मामला हत्या का प्रतीत होता है। जितने भी साक्ष्य मिले हैं, उससे हत्या के मामले की पुष्टि हो रही है।

बड़हरिया थाने में कागजी काम संभालता था
बड़हरिया थाने में कर्मचारियों की कमी को देखते हुए नागेंद्र को कागजी कामों को देखने के लिए लगाया गया था। पासपोर्ट जांच सहित आचरण व अन्य कई तरह का काम वह संभालता था। लोगों का कहना है कि नागेंद्र मिलनसार था। थाने में आने-जाने वाले लोगों से शालीनता से पेश आता था। अधिकारी भी उसके काम की तारीफ करते हैं। घटना के बाद पडरौना पंचायत के सामाजिक कार्यकर्ता रिंकू तिवारी, मुखिया किरण देवी, राज बलम पर्वत, कैलगढ़ दक्षिण के मुखिया अमरेंद्र माझी, पूर्व सरपंच अखिलेश सिंह, पूर्व मुखिया संघ अध्यक्ष संतोष यादव ने घटनास्थल पर पहुंचकर मृतक के परिजनों को सांत्वना दी।

पोस्टमार्टम के बाद ही स्थिति हो पाएगी स्पष्ट
प्रथम दृष्टया मामला हत्या का प्रतीत हो रहा है। पुलिस ने जांच प्रारंभ कर दिया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए सीवान सदर अस्पताल भेज दिया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।
प्रवीण प्रभाकर, थानाध्यक्ष, बड़हरिया

खबरें और भी हैं...