पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना से जंग:88 मरीजों की सूची मिलते ही नगर परिषद ने 35 मोहल्लों को कंटेनमेंट जोन घोषित किया

सीवान10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ने के कारण लोग बेचैन हैं। लोग दहशत के बीच भी जी रहे हैं। नगर परिषद ने शहर के 35 मोहल्लों को कंटेनमेंट जोन बनाया है। इनमें से अधिकतर मोहल्लों को सील कर दिया गया है। जबकि कुछ मोहल्लों को सील करना बाकी है। शहर में नगर परिषद की सूची के अनुसार कोरोना के 88 मरीज मिले हैं। हालांकि इनकी संख्या एक सौ से ज्यादा है।

जिन मोहल्लों को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है, इनमें बिदुरती हाता, रामनगर, निरालानगर, सोनार टोली, कागजी मोहल्ला, शास्त्री नगर, डाकबंगला, महादेवा रामनगर, मालवीय नगर, चकिया, गांधी मैदान, सब्जी मंडी, पुरानी बाजाजी, कसेरा टोली, मौलेश्वरी चौक, शांति वटवृक्ष,  एमएम काॅलोनी,  सब्जी मंडी,  पुरानी किला, दक्षिण टोला, गला मंडी, फतेहपुर, पालनगर, बबुनिया मोड़, बनियाटोली शामिल है।  सब्जी मंडी व दक्षिणटोला में ज्यादा मरीज सबसे ज्यादा सब्जी मंडी व दक्षिण टोला मोहल्ले में कोरोना वायरस के संक्रमित मरीज मिले हैं। पुरानी बजाजी भी कोरोना संक्रमण का इन दिनों केन्द्र बना हुआ है। कंटेनमेट जोन घाेषित होने के बाद नगर परिषद ने शहर के आधा दर्जन मोहल्ले को पूरी तरह से सील कर दिया है। सील करने के अब उस क्षेत्र में दवा दुकानों को छोड़कर अन्य किसी भी तरह की दुकानें नहीं खुल रही हैं।

इधर, फतेहपुर, पाल नगर, मालवीय नगर, महादेवा, गांधी मैदान, बबुनिया मोड़ का इलाका पूरी तरह से सील नहीं हुआ है। कुछ भाग को सील कर नगर परिषद ने कोरम पूरा कर लिया है। इस वजह से इन मोहल्लों में अभी भी आवागमन हो रहा है। हालांकि पूरानी बाजाजी, सब्डी मंडी, गल्ला मंडी, सोनारटोली समेत कई मोहल्ले को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। इय वजह से इस क्षेत्र में आवागमन मुश्किल हो रहा है। कई लोग बांस के  नीचे से आ-जा रहे हैं।

अधिक दाम पर राशन खरीदने की मजबूरी 

शहर के जिस मोहल्ले में दुकानों खुल रही है, वहां राशन का सामान महंगा कर बेचा जा रहा है। केन्द्र सरकार द्वारा जब लॉकडाउन लगाया गया था, उस समय जिला प्रशासन द्वसरा किराना दुकानों में सामान की सूची लगवाई गई थी। इसी सूची के अनुसार चावल, दाल, चीनी, आटा समेत अन्य खाद्य सामग्रियों  को बेचना था। लेकिन, इसकी मॉनिटरिंग अब नहीं की जा रही है। इस वजह से अब दुकानदार मनमानी कर रहे हैं।

वे पहले की अपेक्षा ज्यादा दाम पर सामान बेच रहे हैं। लेेकिन, किसी भी दुकान की जांच नहीं हो रही है। शहर के अस्पताल रोड में कई दुकानें है। वहां पर भी अब रेट चार्ट नहीं लगाया गया है। सिसवन ढाला लक्ष्मीपुर में भी कई किराना की दुकान है। वहां पर भी रेट चार्ट नहीं लगाई गई है। साथ ह समान का रेट ज्यादा लिया जा रहा है। इन दुकानदारों पर किसी भी तरह की कार्रवाई नहीं हो रही है। इसके चलते मनमानी है। 

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- वर्तमान परिस्थितियों को समझते हुए भविष्य संबंधी योजनाओं पर कुछ विचार विमर्श करेंगे। तथा परिवार में चल रही अव्यवस्था को भी दूर करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियम बनाएंगे और आप काफी हद तक इन कार्य...

    और पढ़ें