पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

झड़प:जमीन व रुपए के बंटवारे को लेकर हो रही थी झड़प, सेना के जवान की गोली लगने से मौत

रसूलपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एकमा प्रखंड के तिलकार गांव में मंगलवार को हुए दो पक्षों के बीच भूमि विवाद को लेकर चल रहे पंचायत के दौरान झड़प में सेना के जवान राजेन्द्र मिश्र को गोली लगने के दौरान मौत हो गई थी तथा इनके भाई और एक फौजी भाई आनन्द मिश्र व भतीजा अभिनव मिश्र को भी गोली लगने से घायल हो गए थे। वहीं बुधवार को आर्मी के जवानों द्वारा पूरे विधि विधान के साथ मृतक जवान के पार्थिव शरीर को तिरंगे में लिपटाकर कर रिविलगंज के सेमरिया घाट स्थित शवदाह स्थल पर जवानों के द्वारा सलामी देने के बाद उन्हें पंचतत्व में विलीन कर दिया गया। मृतक गजेंद्र मिश्र 2007 में सेना में शामिल हुआ था। जिनके दो पुत्र है। एक पुत्र अप्रित की आयु 11 वर्ष तथा दूसरे पुत्र अर्पण की आयु 8 वर्ष है।मृतक जवान का पार्थिव शरीर जब उसके घर से निकला तो पूरे गांव की आंखें नम हो गई। इस दौरान माने तो उसका पार्थिव शरीर यह कह रहा हो कि मुझे तो दुश्मनों ने नहीं बल्कि अपनों ने मारा। बताते चले कि फौजी के पिता पांच भाई थे। पूर्व में ही चार भाई राजकिशोर मिश्र, राजदेव मिश्र,मनन मिश्र, कन्हैया मिश्र की मृत्यु हो चुकी है। एक भाई लाल देव मिश्र जीवित है। जिनमें रुपये और जमीन के बंटवारे को लेकर पिछले कुछ दिनों से आपसी मतभेद चल रहा था। झगड़े के निष्पादन के लिए ही सेना के जवान 34 वर्षीय गजेंद्र मिश्र और आनंद मिश्र छुट्टी लेकर घर आये थे। घटना के एक दिन पूर्व भी आपसी झड़प हुई थी। पुनः पंचायती कर मामला निपटाने पर सहमति बनी हुई थी।
पंचायत के दौरान घटना को दिया गया अंजाम
अगले ही दिन पंचायती के दौरान बाहर से शूटर को बुलाकर घटना को अंजाम दे दिया गया। घटना के बाद से पूरे गांव में मातम छा गया। सभी लोग दबे जुबान इस घटना की चर्चा कर रहे है। वहीं मां चन्द्रावती कुंवर और पत्नी किरण देवी का रो-रो कर बुरा हाल है।

खबरें और भी हैं...