पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पंचायत चुनाव:जिला परिषद के लिए जिले का मतदाता तो मुखिया के लिए प्रखंड का होना जरूरी

सीवान19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक व्यक्ति एक से अधिक पद के लिए भी भर सकता है नामांकन प्रपत्र

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में पंच व वार्ड के चुनाव में प्रत्याशी बनने के लिए संबंधित पंचायत का मतदाता होना अनिवार्य होगा। नामांकन के दौरान अभ्यर्थी को खुद सक्षम पदाधिकारी के समक्ष उपस्थित होकर अपने नामांकन पत्र को दाखिल करना होगा। आयोग के निर्देश के अनुसार संबंधित प्रखंड में किसी भी पंचायत का मतदाता उस प्रखंड के दूसरे पंचायत से भी मुखिया पद के लिए चुनाव लड़ सकेगा। इसी प्रकार सरपंच व पंचायत समिति सदस्य के पद के लिए भी संबंधित प्रखंड का मतदाता होना अनिवार्य होगा। जिला परिषद की सीटों के लिए जिले का मतदाता होना संबंधित प्रत्याशी के लिए अनिवार्य होगा। एक व्यक्ति एक से अधिक पद के लिए चुनाव लड़ सकते है। उनको अलग-अलग नामांकन पत्र दाखिल करना होगा। नामांकन शुल्क भी अलग-अलग जमा करना होगा।

उड़ीसा के कंधमाल से पहुंचा बीयू व सीयू
जिले पंचायत चुनाव को लेकर दूसरे दिन बुधवार को उड़ीसा के कंधमाल जिले से ईवीएम मशीन पहुंच गया है। जिसे सुरक्षा व्यवस्था के बीच डायट भवन में बने वेयरहाउस में रखा गया है। दो बड़े-बड़े कंटेनर वाहन से ईवीएम सुरक्षा व्यवस्था के बीच पहुंचाया है। इसके पहले मंगलवार को दो जिला बरगढ़ और झारसुगुड़ा से ईवीएम मशीन आया था। इसके बाद और दो जिला गजपति और कोरापुट से गुरूवार तक ईवीएम मशीन सीवान पहुंच जायेगा। सभी पांचों जिले से ईवीएम मशीन पहुंचने के बाद ही एफएलस का कार्य शुरू कराया जाएगा।

जिसके लिए बेल और इसीआईएल के अभियंताओं की टीम आयेगी। बतादे कि कंधमाल जिले से बैलेट यूनिट 1542 और कंट्रोल यूनिट 1480 सीवान पहुंचा है। ईवीएम आने के दौरान डॉयट भवन में सूचना विज्ञान पदाधिकारी राजीव कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। ईवीएम रखने के बाद संबंधित रूम को सील भी किया जा रहा था।

इन योजनाओं पर नहीं लगेगी रोक
बताते चलें कि राष्ट्रीय उच्च पथ एवं राज्य के मुख्य पथ के काम पर पाबदी नहीं रहेगी। मनरेगा के अंतर्गत पूर्व से चल रही योजनाएं का काम नहीं बंद होगा। अंतर राष्ट्रीय वित्तीय संस्था तथा राष्ट्रीय वित्तय संस्था आदि से स्वीकृति वित्तीय सहायता के आधार पर योजनाओं की स्वीकृति तथा उसके क्रियान्वयन पर कोई पाबंदी नहीं रहेगी।

आपात योजनाएं तथा बाढ़ निरोधक योजनाएं, सूखा अथवा अभावग्रस्त क्षेत्रों में संबंधित योजनाओं आदि को पंचायत निर्वाचन की अवधि में रोक नहीं लगेगा। सरकारी कार्यालयों में आधुनिकरण जैसे कि कंप्यूटर व अन्य चीजों को चालू करने पर कोई पाबंदी नहीं रहेगी।

ईवीएम की स्कैनिंग को लेकर डायट में तैनात किए गए 26 कर्मी
एमटू मॉडल के ईवीएम के स्कैनिंग को लेकर डायट भवन में 26 कर्मियों को तैनात किया गया है। इस कार्य को उप निर्वाचन पदाधिकारी सह नोडल पदाधिकारी ईवीएम कोषांग के देख-रेख में किया जाएगा। साथ ही सहयोग के रूप में संबंद्ध पदाधिकारी के रूप में अवर निर्वाचन पदाधिकारी अनिल कुमारी को तैनात किया गया है। इसके अलावा जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी राजीव कुमार , प्रभारी आईटी प्रबंधक जितेंद्र कुमार गुप्ता, आईटी सहायक महाराजगंज विवेक मिश्रा, पिकेश रंजन, आईटी सहायक भगवानपुरहाट सुनील कुमार, आईटी सहायक शमीम अंसारी, शिक्षक शाबिर अहमद, रामजनम राम, संतोष कुमार, कार्यपालक सहायक राजेश कुमार, सुभाष कुमार, कमलेश कुमार, धनंजय कुमार पाठक, सुनील कुमार चतुर्वेदी सहित अन्य को तैनात किया गया है। इसके अलावा सुरक्षा को देखते हुए पुलिस जवान भी तैनात किए गए है। सुरक्षा दृष्टीकोरण से सीसीटीवी कैमरा भी लगाया गया है।

खबरें और भी हैं...