पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तैयारी:12 से इंटर कॉलेजों में होगी पढ़ाई, मास्क और साेशल डिस्टेंसिंग के साथ 50% बच्चाें की रहेगी उपस्थिति

सीवान20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अनलाॅक के बाद कॉलेजाें में बनायी जा रही विद्यार्थियों की सूची, शिक्षकों को भी जिम्मेवारी
  • कोरोना का संक्रमण कम होने के बाद राज्य सरकार ने लिया शैक्षणिक संस्थानों को खोलने का निर्णय

कोरोना वायरस की रफ्तार कमजोर होने के बाद राज्य सरकार द्वारा अनलॉक में अब पठन-पाठन शुरू करने के लिए भी तैयारी की जा रही है। राज्य सरकार के निर्देश पर 12 जुलाई से 11वीं और 12वीं क्लास में पढ़ाई शुरू हो जाएगी। इसके लिए शिक्षा विभाग द्वारा आवश्यक निर्देश जारी कर दिया गया है। विभागीय निर्देश के आलोक में इस जिले में सभी इंटर कॉलेज तथा प्लस 2 स्कूलों में 12 जुलाई से क्लास संचालन की रणनीति बनायी जा रही है। प्राचार्य तथा शिक्षक छात्रों की सूची तैयार करने में जुट गए हैं कि किस दिन कितने बच्चों को और किसे बुलाना है। इसके लिए शहर के डीएवी पीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ. अजय कुमार पंडित ने भी सभी विभागाध्यक्ष को निर्देश दिया है कि राज्य सरकार तथा विश्वविद्यालय द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार 12 जुलाई से क्लास संचालित करें। प्राचार्य ने यह भी कहा है कि छात्र-छात्राएं विभागाध्यक्ष से यह जानकारी ले लेंगे कि उनकी क्लास किस दिन चलेगी।

सेनेटाइज कराने का निर्देश
स्कूल खोलने से पहले भवन, क्लास रूम, फर्नीचर, उपकरण, स्टेशनरी, भंडार रूम, पानी टंकी, वासरूम, प्रयोगशाला, लाइब्रेरी आदि की सफाई करने का निर्देश दिया गया है। इस निर्देश के आलोक में कॉलेज प्रशासन द्वारा साफ-सफाई भी शुरू करा दी गई है। स्कूल तथा कॉलेजों में चलने वाले बसाें को सेनेटाइज करने का भी निर्देश दिया गया है, ताकि बस में किसी भी तरह की कोरोना वायरस के रहने की संभावना नहीं रहे। इसके अलावा बस में पर्दा भी नहीं रखने को कहा गया है।

स्कूलों में 50% शिक्षक रहेंगे उपस्थित
जिले के सभी स्कूलों में पठन-पाठन नहीं होगी, लेकिन शिक्षकों की उपस्थिति अनिवार्य कर दी गई है। स्कूल में 50 से 30 शिक्षक उपस्थित रहेंगे। इसके लिए तैयारी की जा रही है। स्कूलों में एडमिशन के दौरान भी बच्चों को आने पर रोक लगाई गई है। एडमिशन कराने के लिए अभिभावकों को आने के लिए कहा गया है। जरूरत हो तो ऑनलाइन एडमिशन करने का निर्देश दिया गया है। स्कूल में सेनेटाइजर और साबुन की व्यवस्था रखने को कहा गया है।

दाे पालियाें में चलेगा स्कूल
जिस कॉलेज तथा प्लस 2 स्कूलों में नामांकित बच्चों की संख्या बहुत ज्यादा है वैसे स्कूल में दो पाली में स्कूल संचालित करने का निर्देश दिया गया है। यदि क्लास रूम छोटा हो तो कंप्यूटर रूम लाइब्रेरी रूम प्रयोगशाला को भी बच्चों के बैठने के लिए उपयोग करने को कहा गया है। साथ ही 2 बच्चों के बैठने के दौरान फीट की दूरी का अनिवार्य रूप से पालन करने को कहा गया है। इधर बच्चों की जांच के लिए है भी निर्देश दिया गया है, ताकि शैक्षणिक संस्थान में बच्चों के नियमित रूप से जांच हो सके।

खबरें और भी हैं...