पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कृषि सलाह:जलवायु के अनुकूल खेती कर कम लागत में लें अच्छी उपज

सीवान15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कार्यक्रम में मौजूद अधिकारी और अन्य। - Dainik Bhaskar
कार्यक्रम में मौजूद अधिकारी और अन्य।
  • जिले के लकड़ी नबीगंज एवं बसंतपुर प्रखंड में विशेष सचिव ने किया भ्रमण, आय बढ़ाने वाली तकनीकों पर चर्चा

रविवार को जिले के दो प्रखंडों का भ्रमण विशेष सचिव सह नोडल पदाधिकारी आत्मा योजना द्वारा किया गया। इसमें उन्होंने किसानों के साथ खेती किसानी पर चर्चा किया है। बामेती पटना एवं कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंध अभिकरण(आत्मा) सीवान के तत्वावधान में विशेष सचिव सह नोडल पदाधिकारी आत्मा योजना पटना द्वारा लकड़ी नबीगंज एवं बसंतपुर में पहुंच कर किसानों द्वारा किया गया खेती को देखा गया और आवश्यक जानकारी ली गई। लकड़ी नबीगंज में जल जल जीवन हरियाली कार्यक्रम अंतर्गत जलवायु के अनुकूल कृषि कार्यक्रम (सीआरए) भोपतपुर पंचायत के भोपतपुर भरथिया गांव में जलवायु के अनुकूल कृषि कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। कार्यक्रम का संचालन प्रखंड तकनीकी प्रबंधक मनीष पांडे, डॉ सतीश कुमार एवं सहायक तकनीकी प्रबंधक विपिन चतुर्वेदी के देखरेख में किया गया।

फसल चक्र पद्धति के उपयोग पर जोर
आत्मा एवं कृषि विज्ञान केंद्र अध्यक्ष सह वरिष्ठ वैज्ञानिक अनुराधा रंजन कुमारी एवं मनीष पांडेय ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। विशेष सचिव सह नोडल पदाधिकारी आत्मा योजना द्वारा किसानों को संबोधित करते हुए जल जीवन हरियाली कार्यक्रम अंतर्गत जलवायु के अनुकूल कृषि कार्यक्रम के बारे में चर्चा किया गया। प्रखंड तकनीकी प्रबंधक डॉ सतीश कुमार सिंह द्वारा जल जीवन हरियाली के विभिन्न अवयवों के बारे में विस्तार से चर्चा की गयी। बताया गया कि जलवायु के अनुकूल कृषि कार्यक्रम में किसान विभिन्न फसल चक्र पद्धति का उपयोग करते हुए उसके अनुरूप क्रॉपिंग इंटेंसिटी को बढ़ाया जा सकता है तथा कृषि कार्यों में कम लागत ऊपज अधिक उत्पादन करते हुए किसानों की आय को बढ़ाया जा सकता है।किसानो के द्वारा कृषि कार्यो से संबंधित अपने अपने महत्वपूर्ण सुझाव विशेष सचिव के समक्ष रखे गए। विशेष सचिव के द्वारा दिए गए जानकारियों से किसान खुशी व्यक्त करते हुए उनको धन्यवाद ज्ञापन किया गया।

समूह गठन कर किसान ले सकते हैं ज्यादा आमदनी
वही बसंतपुर प्रखंड के नगौली गांव में उद्यानिक फसलों के उत्पादन हेतु उन्नत तकनीक विषय पर प्रशिक्षण कार्यक्रम कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। विशेष सचिव द्वारा बताया गया कि किस तरह से समूह के माध्यम से उद्यानिकी फसलों के उत्पादन में बढ़ोत्तरी की जा सकती है। उनके द्वारा बताया गया कि किसान आत्मा योजना अंतर्गत कृषक हित समूह एवं महिला खाद्य सुरक्षि समूह का गठन कर अधिक से अधिक लाभ पा सकते हैं। मौके पर दोनों प्रखंडों के प्रखंड कृषि पदाधिकारी, प्रखंड उद्यान पदाधिकारी, सहायक तकनीकी प्रबंधक, कृषि समन्वयक, किसान सलाहकार, कृषि विज्ञान केंद्र, भगवानपुर हाट, सिवान के विभिन्न वैज्ञानिक एवं प्रगतिशील किसानश्री शिवजी ठाकुर, शंभूनाथ सिंह, अशोक सिंह, सुरेंद्र सिंह, सहित अन्य किसान बंधु उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...