पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समीक्षा बैठक:जल्द कराएं दाहा नदी पुल की मरम्मत, नाले से अतिक्रमण हटाने को लेकर भी हो कार्रवाई

सीवान7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बैठक में भाग लेते प्रभारी मंत्री व अन्य - Dainik Bhaskar
बैठक में भाग लेते प्रभारी मंत्री व अन्य
  • समाहरणालय में आपदा, ओलावृष्टि और विकासात्मक कार्यों की समीक्षा बैठक, प्रभारी मंत्री भी हुए शामिल
  • शहर आने वालों को तय करनी पड़ रही लंबी दूरी, पैदल यात्री को ज्यादा दिक्कत

समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में मंगलवार को आपदा, ओलावृष्टि और विकासात्मक कार्यों की समीक्षा बैठक पर्यटन विभाग के मंत्री व जिले के प्रभारी मंत्री नारायण प्रसाद की अध्यक्षता में हुई। इसमें प्रभारी मंत्री ने जिला प्रशासन को सुझाव दिया है कि दाहा नदी के पुल की जल्द से जल्द मरम्मत करायी जाए ताकि पैदल यात्री और छोटे वाहनों का आवागमन हो सके। उन्होंने कहा कि सीवान आने के दौरान शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों के कई लोगों ने उनसे मुलाकात की और पुल मरम्मत की मांग रखी है। उन्होंने बैठक में कहा कि लोगों को लंबी दूरी तय कर शहर आना पड़ रहा है। इससें परेशानी हो रही है। उन्होंने यह भी कहा कि जिले में होने वाले जलजमाव का भी समाधान किया जाए। सरकारी नाले पर अतिक्रमण से जलजमाव की स्थिति उत्पन्न होती है।
637 हेक्टेयर में फसल हुई बर्बाद
बैठक में जिलाधिकारी अमित कुमार पांडेय, प्रभारी मंत्री नारायण प्रसाद, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल आदि मौजूद थे। जिले के आपदा, बाढ़, सुरक्षा एवं विकास कार्यों से संबंधित अबतक की गई उपलब्धियों को प्रेजेंटेशन के माध्यम से बताया गया। बताया गया कि जिले में अनुमानित फसल क्षति खरीफ वर्ष 2021 में 637 हेक्टेयर है। सितंबर माह में बरसात कम होती है तो सिंचाई सुविधा बाल्मीकि नगर बाराज से उपलब्ध कराया जाएगा।

17 सितंबर को वैक्सीनेशन महाभियान
स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा निर्देश दिया गया है कि पूर्व में अतिवृष्टि क्षतिग्रस्त फसल का लाभ बुआई के बाद दी जाती थी। लेकिन, अतिवृष्टि से उत्पन्न जलजमाव के कारण कुछ क्षेत्रों में बुआई ही नहीं हो पाती है। इनका आकलन सुनिश्चित कर इनको भी क्षतिग्रस्त फसल का लाभ दिया जाए। शत-प्रतिशत टीकाकरण को सुनिश्चित कराने के लिए 17 सितंबर को वैक्सीनेशन महाभियान निर्धारित है। सुरक्षा चक्र के लिए जरूरी है कि राज्य के हर नागरिक को टीका जरूर लगा दिया जाए।

ऑनलाइन लें क्षति का आवेदन
सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने कहा कि कुछ पंचायतों को छोड़कर जिला आपदा रहित होने की ओर अग्रसर है। फसल क्षति होने पर किसानों से पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन प्राप्त करें ताकि ससमय उनको लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि पूर्व में प्रभावित शेष बचे किसानों को क्षतिपूर्ति का लाभ जल्द देना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना से मृत व्यक्तियों का आकलन कर उनको लाभ पहुंचाना सुनिश्चित किया जाए।

पांच प्रखंडों को नुकसान
डीएम ने बताया कि जिले के पूर्वी क्षेत्र के पांच प्रखंड सारण तटबंध टूटने के कारण प्रभावित होते हैं। इसमें बड़हरिया, गोरेयाकोठी, बसंतपुर ,लकरी नवीगंज व भगवानपुर हाट शामिल है। दूसरी ओर सरयू नदी के कारण गुठनी ,दरौली, सिसवन प्रखंड प्रभावित होते हैं। इसे लेकर प्रशासनिक तैयारी की गई है। आठ सरकारी नाव, 75 निजी नाव, 10 मोटर बोट, 15581 पॉलीथिन शीट, 12945 वेयरहाउस, दो महाजाल, 443 लाइफ जैकेट, 160 प्रशिक्षित गोताखोर, 222 खोज एवं राहत बचाव दल और 212 शरण स्थलों का स्थाई इंतजाम किया गया है।

कचरा उठाव पर भी चर्चा
नगर परिषद के कर्मियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल के कारण पूरा शहर कचरा से पट गया है। इसका तत्काल समाधान निकाला जाए और साफ सफाई शुरू हो सके। सदर विधायक अवध बिहारी चौधरी ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में सरकारी तालाबों का अतिक्रमण कर लिया गया है। इसके कारण जल जमाव की समस्या उत्पन्न हो रही है।

खबरें और भी हैं...