पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उदासीनता:43 दिन में 7643 घरों को पानी नहीं मिला तो कार्यकारी एजेंसी व संवेदक पर होगी कार्रवाई

सीवानएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 38 वार्डों के 22 हजार 472 घरों में अमृत योजना से पहुंचाना है पानी, बुडको को पांच साल पहले दी गयी थी काम की जिम्मेवारी

केंद्र सरकार की महत्वकांक्षी योजना अमृत मिशन को शत-प्रतिशत धरातल पर उतारने के लिए नगर परिषद ने संबंधित कार्यकारी एजेंसी बुड़कों पर विभागीय चाप चढ़ा दिया है। पांच साल में भी बुड़कों ने नगर परिषद के 38 वार्डों में जलापूर्ति के लिए डोर-टू-डोर पाइपलाइन नहीं बिछाई है। अब नगर विकास एवं आवास विभाग ने इसके लिए लक्ष्य निर्धारित कर दिया है। नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी राहुल धर दूबे ने बुड़कों को निर्देश दिया है कि वह 30 जुलाई तक नगर परिषद के सभी 22 हजार 472 घरों में पानी की सप्लाई शुरू कर दे।

ऐसा नहीं करने पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी। इसमें कार्यकारी एजेंसी बुड़को, संवेदक और उसके सभी संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा है कि कनेक्शन के साथ-साथ पाइपलाइन, ओवर हेड टैंक, पंप हाउस और ट्यूबवेल का भी कार्य पूर्ण करा लेना होगा।

15 सितंबर 2020
को फेज वन के कार्यों का पीएम ने किया था उद्घाटन

कार्यकारी एजेंसी : बुडको संवेदक गांधी पट्टी कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड लाभान्वित होने वाले वार्ड जोन 1- वार्ड संख्या 5, 7, 8, 9, 10, 11, 12, 13, 20, 21, 22, 23 जोन-5- वार्ड संख्या 3, 4, 7, 8 जोन 6- वार्ड संख्या 5 और 27

पंप हाउस भी बनेगा
{हाउस कनेक्शन, पाइपलाइन का विस्तार, ओवरहेड टैंक का निर्माण, पंप हाउस का निर्माण और ट्यूबल का निर्माण।

कार्यकारी एजेंसी : बुडको संवेदक गांधी पट्टी कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड लाभान्वित होने वाले वार्ड जोन 1- वार्ड संख्या 5, 7, 8, 9, 10, 11, 12, 13, 20, 21, 22, 23 जोन-5- वार्ड संख्या 3, 4, 7, 8 जोन 6- वार्ड संख्या 5 और 27

हाउस कनेक्शन और पाइपलाइन कार्य भी अधूरा
पांच साल में 14 हजार 829 घरों को ही मिला पानी

नगर परिषद क्षेत्र के 38 वार्डों में पांच साल में अबतक 14 हजार 829 घरों को ही हाउस कनेक्शन देकर पानी की सप्लाई दी गयी है। अब 43 दिनों में 7 हजार 643 घरों को कनेक्शन पहुंचाकर पानी पहुंचाने को कहा गया है। 22 हजार 472 हाउस कनेक्शन देने का लक्ष्य रखा गया है। इसमें फेज वन में 10 हजार 668 के स्थान पर 6 हजार 584 और फेज दो में 11 हजार 804 में 8 हजार 245 हाउस कनेकशन ही दिया गया है। बताते चलें कि नगर विकास एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव आनंद किशोर ने वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग में नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी राहुलधर दूबे को गत दिन निर्देश दिया था कि हर हाल में 30 जुलाई तक जलापूर्ति परियोजना का कार्य को पूरा करा लेना होगा। इसके बाद कार्यपालक पदाधिकारी ने बुड़को के कार्यपालक अभियंता को पत्र जारी कर हर हाल में समय पर काम करने को कहा है।

एक अरब 11 करोड़ रुपए से हो रहा है काम
बताया जाता है कि सीवान नगर परिषद क्षेत्र में 22 हजार472 हाउस कनेक्शन की जगह अभी तक मात्र 14 हजार 829 कनेक्शन ही दिया गया है। आकड़ा पर नजर डाले तो अभी 7 हजार 643 हाउस कनेक्शन देना बाकी है। इसके अलावा पाइपलाइन, ओवर हेड टैंक, पंप हाउस , ट्यूबवेल सहित अन्य कार्य को भी पूरा कराना है।अमृत योजना का लक्ष्य घर-घर पानी पहुंचाना है, लेकिन विभागीय लापरवाही का ही नतीजा है कि वर्षों से लोगों को पानी का कनेक्शन नहीं दिया जा सका है। हैरानी की बात तो यह है कि विलंब का कारण पूछे जाने पर अधिकारी एक-दूसरे के सिर ठिकरा फोड़ रहे हैं। इससे एक अरब 11 करोड़ 33 लाख 39 हजार 259 की इस योजना का लाभ लोगों को नहीं मिल पा रहा है। इसका उद्घाटन 15 सितंबर 2020 को प्रधानमंत्री ने किया था।

योजना में ये काम है बाकी
{4 ओवरहेड टैंक में एक का भी नहीं हुआ है निर्माण, 10 पंप हाउस में दो बने हैं और कुल 10 ट्यूबवेल में मात्र 4 का हुआ है निर्माण

फेज दो में नहीं हुआ है एक भी ओवरहेड टैंक का निर्माण

फेज दो में 19 वार्डों में हर घर तक पानी पहुंचाना है। इसके लिए 70 करोड़ 57 लाख 93 हजार 254 रुपए खर्च किया जा रहा है। इसके तहत हाउस कनेक्शन 11 हजार 804 घरों तक देना है। जिसके स्थान पर अभी तक 8 हजार 245 हाउस कनेक्शन दिया गया है। जिससे कार्य 69.85 प्रतिशत ही पूर्ण हो सका है। पाईप लाईन कार्य एक लाख 57 हजार 516 मीटर के स्थान पर एक लाख 15 हजार 174 मीटर पूरा किया गया है। यह भी 73 प्रतिशत पूरा हुआ है। वहीं ओवर हेड टैंक का निर्माण तीन करना है लेकिन एक भी का कार्य पूर्ण नहीं हुआ है। पंप हाउस का निर्माण 10 के स्थान पर दो पूर्ण हुआ है। ट्यूबेल का निर्माण 10 के स्थान पर चार हुआ है। इसके साथ फेज वन में ओवर हेड टैंक तीन, पंप हाउस 04 और टयूबवेल 04 निर्माण कार्य शत प्रतिशत हुआ है।

अटल मिशन फॉर रेज्युविनेशन एंड अर्बन ट्रांसफॉर्मेशन यानी अमृत मिशन योजना को शत-प्रतिशत धरातल पर उतारने को लेकर निर्देश दिया गया है। 30 जुलाई तक शत प्रतिशत कार्य पूरा नहीं कराने पर कार्यकारी एजेंसी और संवेदक पर कार्रवाई होगी। इसके लिए प्रधान सचिव से निर्देश मिला है।
राहुल धर दूबे ,कार्यपालक पदाधिकारी नगर परिषद

खबरें और भी हैं...