पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना:एक सप्ताह में मिले मरीजों में कई की ट्रैवल हिस्ट्री नहीं, सामुदायिकस्तर पर संक्रमण फैलने का खतरा

सीवान10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लगातार मरीजों की बढ़ रही संख्या के बाद भी लोगों को जाम से नहीं मिल रहा निजात, लॉकडाउन लगाने की उठने लगी आवाज

जिले में कोरोना से पॉजिटिव मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इसमें शहरी क्षेत्र भी शामिल है। दो दिनों से जिस तरह मरीज मिल रहे हैं, उससे लग रहा है कि शहर से लेकर गांवों तक सामुदायिक संक्रमण होने लगा है। कारण कि एक सप्ताह के भीतर मिले मरीजों में से अधिकतर की ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है। उन्हें खुद पता नहीं चल रहा है कि वे किस तरह पॉजिटिव हुए। हालांकि वे भी अनुमान ही लगा रहे हैं कि किसी के संपर्क में आने के बाद वे पॉजिटिव हुए हैं। शहरी क्षेत्र में भी कोरोना के 100 से ज्यादा मरीज हैं। जबकि शहरी क्षेत्र के समीप वाले गांवों में भी 50 से ज्यादा पॉजिटिव सामने आए चुके हैं। बावजूद लोगों की मांग के अनुसार लॉकडाउन नहीं लगाया जा रहा है।

कई लोगों ने कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए लॉकडाउन लगाने की मांग की है। लोगों का कहना है कि जिले में कम से कम एक पखवारे के लिए लॉकडाउन की आवश्यकता है। पूर्व मंत्री विक्रम कुंवर ने पहले ही लॉक डाउन लगाने की मांग कर चुके है। सोशल मीडिया पर भी आवाज उठाए जा रहे हैं। इधर, शहर से लेकर गांवों में कोरोना के मरीज मिल रहे हैं, फिर भी लोगों द्वारा लापरवाही बरती जा रही है। शहर की मुख्य सड़कों पर रोज जिस तरह से भीड़ दिख रही है उससे लगता है कि कोरोना वायरस से बचाव से ज्यादा उनका सड़कों पर भीड़ से जूझना ज्यादा जरूरी है। बबुनिया रोड, बबुनिया मोड़ व राजेन्द्र पथ में तो रोज सोशल डिस्टेंस टूट रहा है। यहां पर रोज जाम इस तरह लग रही है कि लोगों भीड़ के साथ ही सड़क पर खड़ा रहना पड़ रहा है।

सिसवन ढाला पर लगी रहती है भीड़ 

शहर में ट्रैफिक जाम की वजह से भी सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं हो रहा है। सिसवन ढाला पर ट्रेन या मालगाड़ी पास कराए जाने के दौरान ढाला बंद रहता है। इस दौरान भी सोशल डिस्टेंस टूट रहा है। लेकिन, जिला प्रशासन इस संदर्भ में किसी भी तरह की कार्रवाई नहीं कर रहा है। शहर के कंटेनमेंट जोन को सील कर दिया गया है। वहां की दुकानें बंद कर दी गई हैं।

जहां पर दुकानें खुली हैं, वहां के दुकानदार दुकानदार या उसके कर्मी नियमावली का शत-प्रतिशत पालन नहीं कर रहे है। कई दुकानदार व उसके कर्मी मास्क पहनने के बजाय उसे गले में लटकाना ज्यादा पसंद कर रहे हैं। दुकानों को जांच करने के लिए पिछले सप्ताह एक-दो दिन अभियान चलाया गया। लेकिन, फिर अभियान की गति धीमी पड़ गई है। इससे कई दुकानदारों द्वारा लापरवाही बरती जा रही है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें