स्वास्थ्य विभाग / अब प्रखंडों में जाकर कोरोना संदिग्धों के लिए जाएंगे सैंपल, रोज 200 लोगों की जांच का रखा गया लक्ष्य

Now Corona suspects will go to the blocks and go for samples, the target of investigating 200 people every day
X
Now Corona suspects will go to the blocks and go for samples, the target of investigating 200 people every day

  • औराई में खोला गया जिलास्तरीय सैंपल केंद्र, सामुदायिक स्तर पर वायरस का फैलाव रोकने की बनी रणनीति

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 06:33 AM IST

सीवान. कोराेना वायरस का सामुदायिक स्तर पर फैलाव हुआ है कि नहीं, इसके लिए भी स्वास्थ्य विभाग की टीम काम कर रही है। हालांकि अब तक जांच में यह बात सामने आई है कि जिले में अभी सामुदायिक स्तर पर कोरोना का वायरस नहीं फैला है। इसके लिए गांवों से और कई सब्जी मंडियों से भी लोगों के सैंपल लेकर जांच कराई जा चुकी है। जो योजना स्वास्थ्य विभाग के पास है, उस पर काम चल रहा है। अब सैंपल लेने का काम प्रखंडस्तर पर किया जा रहा है। जबकि औराई पंचायत में बनाए गए जिलास्तरीय सैंपल केन्द्र को सोमवार को फिलहाल बंद कर दिया गया है। हालांकि सिविल सर्जन डॉ. यदुवंश कुमार शर्मा का कहना है कि औराई पंचायत में चल रहे जिलास्तरीय सैंपल केन्द्र को तात्कालिक बंद किया गया है। फिर से उसे चालू किया जाएगा। प्रखंडों में जाकर सैंपल लेने का काम सोमवार से शुरू कर दिया गया है। प्रत्येक प्रखंड में एक दिन में लगभग 50 सैंपल लिए जाएंगे। यानि कि चार प्रखंडों से 200 सैंपल लेने की तैयारी की गई है। 

सैंपल कलेक्शन के लिए चार टीमेें बनाई गई है। लैब टेक्निशियन प्रदीप कुमार के नेतृत्व में गठित टीम को सीवान सदर, पचरुखी, महाराजगंज व दरौंदा की जिम्मेवारी दी गई है। जबकि लैब टेक्निशियन नागेन्द्र कुमार के नेतृत्व में टीम को हुसैनगंज, हसनपुरा, रघुनाथपुर, सिसवन व आंदर प्रखंड की जिम्मेवारी दी गई है। एलटी राजेश कुमार के नेतृत्व में टीम को दरौली, जीरादेई,, मैरवा, गुठनी और  एलटी कृष्णमोहन के नेतृत्व में टीम को बड़हरिया, गोरेयाकोठी, बसंतपुर, लकड़ी नबीगंज, भगवानपुर प्रखंड की जिम्मेवारी दी गई है।

रघुनाथुर, पचरुखी, दरौली व बसंतपुर में लिया गया सैंपल
सैंपल लेने वाली टीम रोज अपने निर्धारित प्रखंडों में एक प्रखंड में जाएगी और वहां पर प्रखंड प्रशासन या प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी द्वारा उपलब्ध कराई गई सूची के अनुसार सैम्पल लेगी। सैंपल को सदर अस्पताल स्थित टूनेट मशीन से जांच की जाएगी। टूनेट मशीन की प्रत्येक 24 घंटे में औसतन 40 सैम्पल जांच की जा सकती है। इसलिए शेष सैम्पल को पटना भेज दिया जाएगा। सोमवार को प्रदीप कुमार के नेतृत्व में पचरुखी, नागेन्द्र कुमार के नेतृत्व में रघुनाथपुर, राजेश कुमार के नेतृत्व में दरौली, व कृष्णमोहन के नेतृत्व में बसंतपुर में सैंपल लेने का काम हुआ।

होम क्वारेंटाइन वालों की भी की जाएगी जांच 
सैंपल लेने के दौरान नियमावली में भी बदलाव कर दिया गया है। पहले सैम्पल लेने के साथ ही उसे प्रखंड या पंचायतस्तर के क्वारेंटाइन केन्द्र में रखा जाता था। सैंपल की जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उसे घर भेजा जाता था। लेकिन अब गांवों से या होम क्वारेंटाइन से जिनका सैम्पल लिया जा रहा है, उनका सैम्पल लेने के बाद होम क्वारेंटाइन में ही रहने का निर्देश दिया जा रहा है। जबकि प्रखंड क्वारेंटाइन से आने वाले लोगों के सैम्पल लेने के बाद प्रखंड क्वारेंटाइन में ही भेजा जा रहा है। इससे फैलाव रोकने में मदद मिलेगी। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना