सुविधा:सदर अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट शुरू सेंट्रल पाइपलाइन से होगी गैस की सप्लाई

सीवान15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्लांट पर मौजूद सिविल सर्जन और अन्य पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
प्लांट पर मौजूद सिविल सर्जन और अन्य पदाधिकारी।
  • प्रति मिनट एक हजार लीटर बनेगा ऑक्सीजन, प्रधानमंत्री ने वर्चुअल किया उद्घाटन, पीएम केयर्स फंड से हुआ है काम
  • कोरोना की तीसरी लहर से निबटने में होगी सहूलियत, 100 बेड पर मिलेगी सुविधा

सदर अस्पताल में पीएम केयर्स फंड से बना ऑक्सीजन प्लांट गुरुवार की सुबह चालू हो गया। इस प्लांट का वर्चुअल उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। उद्घाटन के बाद से ही सदर अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट से ऑक्सीजन की सप्लाई होने लगी। इमरजेंसी वार्ड में सेंट्रल पाइपलाइन के सहारे 13 बेड पर ऑक्सीजन की सप्लाई हो रही है। जबकि पुरुष वार्ड में भी सेंट्रल पाइपलाइन 20 बेड पर लगाया गया है। इन बेडों पर भी ऑक्सीजन प्लांट से ही सीधी सप्लाई करने की तैयारी की जा रही है। इसके बाद आईसीयू भवन महिला वार्ड एनआईसीयू एसएनसीयू समेत अन्य विभाग के बेडों पर भी ऑक्सीजन प्लांट से ही ऑक्सीजन की सप्लाई होगी। जानकारी के अनुसार सदर अस्पताल में एक सौ बेड पर सीधे ऑक्सीजन प्लांट से ऑक्सीजन की सप्लाई होगी। इस सुविधा के चालू हो जाने के बाद अस्पताल प्रशासन को ऑक्सीजन के लिए इधर-उधर नहीं भटकना पड़ेगा। सदर अस्पताल को जिसने ऑक्सीजन की आवश्यकता है, उससे कई गुना ऑक्सीजन इस प्लांट से रोजाना बनेगा।

दूसरी लहर में हुई थी दिक्कत
अस्पताल प्रशासन फिलहाल सदर अस्पताल में एक सौ बेड पर इस प्लांट से ऑक्सीजन की सप्लाई कराने की तैयारी कर रहा है। उद्घाटन के मौके पर सिविल सर्जन डॉक्टर यदुवंश कुमार शर्मा, डीपीएम ठाकुर विश्वमोहन, सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ. रीता सिन्हा, डॉ सुनील कुमार सिंह, हॉस्पिटल मैनेजर मोहम्मद इसरारुल हक आदि मौजूद थे। कोरोना वायरस की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन के लिए हाहाकार मच गया था। जिले में ऑक्सीजन के अभाव में ही रोजाना कई लोगों की मौत हो रही थी।

हर दिन 75 गैस सिलेंडर की हो रही थी खपत
कोरोना वायरस की दूसरी लहर के दौरान सदर अस्पताल में एक दिन में लगभग 75 बड़े गैस सिलेंडर की खपत हो रही थी। इसके बावजूद कई मरीजों को इमरजेंसी के बाहर बेड खाली होने का इंतजार करना पड़ता था। इससे बिना भर्ती कराए भी कई मरीजों की मौत हो रही थी। अब उम्मीद है कि इस तरह की समस्या सामने नहीं आएगी।

वर्तमान में गोपालगंज से ऑक्सीजन खरीदकर चलाना पड़ रहा है काम
सदर अस्पताल अब ऑक्सीजन के लिए आत्मनिर्भर हो गया है। सदर अस्पताल तथा डेडिकेटेड कोविड-19 में ऑक्सीजन के लिए गोपालगंज के छांप स्थित प्लांट से ऑक्सीजन खरीद कर मंगाना पड़ रहा था। लेकिन, अब सदर अस्पताल में ही ऑक्सीजन प्लांट चालू हो जाने के बाद ऑक्सीजन दूसरी जगह से खरीदने की जरूरत नहीं पड़ेगी। सिविल सर्जन ने बताया ऑक्सीजन प्लांट से प्रत्येक मिनट 1000 लीटर ऑक्सीजन बनेगा।
जरूरत से ज्यादा बनेगा गैस, सिलेंडर में भी गैस भरने की होगी व्यवस्था
सदर अस्पताल सीवान ऑक्सीजन प्लांट से ऑक्सीजन सिलेंडर में ऑक्सीजन भरने की व्यवस्था नहीं रहेगी। कारण कि अभी जो कार्य हुआ है। इसमें केवल सेंट्रल पाइप लाइन से अस्पताल के अंदर बेड पर ही ऑक्सीजन की सप्लाई होगी। जब के सिलेंडर में ऑक्सीजन भरने के लिए एक अलग से उपकरण लगाने की आवश्यकता होगी, लेकिन अभी अलग से सिलेंडर में भरने के लिए उपकरण लगाने की योजना नहीं है। हालांकि ऑक्सीजन प्लांट से जीतने ऑक्सीजन प्रतिदिन तैयार होगी उतनी खपत अस्पतालों में नहीं होगी।

खबरें और भी हैं...