सीवान में मुखिया प्रत्याशी को पुलिस ने पीटा:जेल जाने के बाद बिगड़ी तबीयत, पिटाई का वीडियो सामने आने पर गरमाई सियासत

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीवान सदर अस्पताल में भर्ती अपना जख्म दिखाते मुखिया प्रत्याशी अनूप मिश्रा। - Dainik Bhaskar
सीवान सदर अस्पताल में भर्ती अपना जख्म दिखाते मुखिया प्रत्याशी अनूप मिश्रा।

सीवान में पंचायत चुनाव के तीसरे चरण के मतदान में पुलिस द्वारा मुखिया प्रत्याशी की पिटाई का वीडियो सामने आया है। वीडियो हसनपुरा प्रखंड के पकड़ी पंचायत के शेखपुरवा बूथ संख्या 173 का है। वीडियो में पुलिसकर्मी पकड़ी पंचायत के निवर्तमान मुखिया और वर्तमान के मुखिया प्रत्याशी अनूप मिश्रा की पिटाई करते दिख रहा है। पिटाई के बाद पुलिस ने अनूप मिश्रा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

इधर, गंभीर रूप से घायल मुखिया प्रत्याशी की तबीयत जेल में खराब हो गई। इसके बाद उन्हें रविवार को सीवान सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। वीडियो सामने आने के बाद से सीवान में राजनीतिक माहौल गर्म हो गया है। सीवान की सांसद कविता सिंह के पति जदयू नेता अजय सिंह मुखिया प्रत्याशी से मिलने अस्पताल पहुंचे।

गाली देकर बेरहमी से पिटाई करते वीडियो वायरल
वायरल वीडियो में दिख रहा है कि अनूप मिश्रा लेटे हुए हैं। इसी बीच वहां कुछ पुलिसकर्मी पहुंचते हैं और गाली गलौज करते हुए जमकर उन पर लाठियां बरसाने लगते हैं। इतना ही नहीं, पुलिस कर्मियों से बचने के लिए अनूप भागकर एक झोपड़ी में घुस जाते हैं। लेकिन पुलिसकर्मी वहां भी पहुंचकर उनकी पिटाई करते हैं।

वोगस वोट की सूचना पर बूथ के मतदान को कैंसिल कराने पहुंचे थे मुखिया प्रत्याशी
पीड़ित अनूप मिश्रा ने बताया कि 8 अक्टूबर को बूथ संख्या 173 शेखपुरवा में उनके प्रतिद्वंदी प्रभुनाथ यादव द्वारा वोगस वोट डलवाने की सूचना पर वे बूथ पर पहुंचे थे। अन्य प्रत्याशियों के साथ प्रोजाइडिंग ऑफिसर से मिलकर बूथ का मतदान कैंसिल कराने के लिए उन्होंने फॉर्म की मांग की। लेकिन फॉर्म नहीं मिला। इसके बाद उन्होंने निर्वाचन पदाधिकारी सह प्रखंड विकास पदाधिकारी से बात की, जिसका संतोषजनक जवाब नहीं मिला।

इलाज के लिए कराहते रहे लेकिन भेज दिया जेल
मुखिया प्रत्याशी ने बताया कि वरिष्ठ अधिकारी को संपर्क किया, लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया तो बूथ से करीब डेढ़ सौ मीटर की दूरी पर एक घर के बाहर बने बास की चचरी पर जाकर वो लेट गए। जहां थोड़ी देर बाद अचानक जिला योजना पदाधिकारी राजीव कुमार के नेतृत्व में पुलिस आई और उन पर लाठीचार्ज कर दिया। इसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर थाने की हाजत में बंद कर दिया गया। जहां इलाज के लिए वे कराहते रहे लेकिन उनका इलाज नहीं कराया गया। अगले दिन उन्हें कानूनी प्रक्रिया के बाद जेल भेज दिया गया। जहां उनकी गंभीर स्थिति को देखते हुए जेल प्रशासन ने सीवान सदर अस्पताल में भर्ती कराया।

नहीं हुई कार्रवाई तो सड़क से सदन तक आवाज होगी बुलंद: अजय सिंह
मुखिया प्रत्याशी अनूप मिश्रा का हाल-चाल लेने सीवान सांसद कविता सिंह के पति जदयू नेता अजय सिंह सदर अस्पताल पहुंचे। उन्होंने कहा कि साजिश के तहत मुखिया प्रत्याशी अनूप मिश्र की पिटाई की गई है। इनकी छवि को धूमिल करने के लिए वीडियो को वायरल किया जा रहा है। मानवाधिकार का हनन किया गया है। जिन लोगों ने यह काम किया है, उन पर कार्रवाई जरूर होगी। उन्होंने कहा कि बड़े पुलिस पदाधिकारियों से मैंने मांग की है कि इस मामले में जल्द से जल्द संज्ञान लिया जाए। नहीं तो सड़क से लेकर सदन तक आवाज बुलंद की जाएगी। यह दबने वाला मामला नहीं है।

खबरें और भी हैं...