पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महाभियान2.0 में भी दिखा लोगों का उत्साह:कड़ी धूप में भी लगी कतार, 83,317 लोगों ने ली कोरोनारोधी वैक्सीन

सीवान19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सीवान स्टेशन पर वैक्सीन लेने के लिए पहुंचे लाभुक। - Dainik Bhaskar
सीवान स्टेशन पर वैक्सीन लेने के लिए पहुंचे लाभुक।
  • टीका के लिए सुबह से ही कतार में खड़े रहे महिला और पुरुष लाभुक

जिले में कोविड टीकाकरण के लक्ष्य को शत-प्रतिशत हासिल करने के उद्देश्य से सोमवार को महाभियान 2.0 का आयोजन किया गया। सुबह 7 बजे से हीं टीकाकरण का कार्य शुरू हो गया। यह टीकाकरण वैक्सीन खत्म होने तक चला हालांकि दर्जनों केन्द्रों पर वैक्सीन दोपहर में ही खत्म हो गई। कुछ केन्द्रों पर दाेबारा वैक्सीन भेजकर टीकाकरण कराया गया। सीवान रेलवे स्टेशन पर भी दाेपहर में ही भीड़ खत्म हो गई थी। जिले में 334 केन्द्रों पर टीकाकरण कराया गया। इन केन्द्रों पर 83,317 लोगों को वैक्सीन दी गई। टीकाकरण महाअभियान के दूसरे चरण में जिले में 95 हजार 350 लाेगों को वैक्सीन देने का लक्ष्य रखा गया था। इसमें शनिवार की रात 51 हजार डोज वैक्सीन आई है। जबकि पहले से 9 हजार डोज वैक्सीन बची हुई है। वहीं 35350 डोज वैक्सीन रविवार की रात में आई। इधर, टीकाकरण काे लेकर सुबह से ही लोगो में उत्साह दिखा। बुजुर्ग से लेकर युवा सभी ने टीकाकरण उत्सव में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। लोगों में टीका लगवाने का जुनून इस कदर था कि कई केंद्रों पर सुबह से ही लंबी-लंबी कतारें देखने को मिली। इस अभियान के दौरान सेकेंड डोज लाभार्थियों को प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण किया गया। कोविड-19 टीकाकरण महा अभियान की सफलता को लेकर स्वास्थ्य महकमा भी पूरी तरह से गंभीर रहा। इसको लेकर प्रशासनिक पदाधिकारियों की टीम पूरे दिन अलग-अलग प्रखंडों में निगरानी करती रही। 18 वर्ष एवं इससे अधिक आयु वर्ग के लाभार्थियों को कोविड-19 टीकाकरण से आच्छादित करने हेतु छह माह छह करोड़ का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

आमजनों ने टीका लगवाकर निभायी जिम्मेदारी: जिलाधिकारी अमित कुमार पांडेय ने कहा कि आम लोगो ने भी टीकाकरण केंद्रों पर पहुंचकर टीका लगवाकर खुद और समाज को सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी निभाई है। वैक्सीनेशन की गति यूं ही बरकरार रही तो तीसरी लहर आने से पहले हम सभी लोगों को टीका लगाने में पूर्ण कामयाब भी होंगे। कोविड टीकाकरण अभियान के दौरान सेकेंड डोज पर विशेष जोर दिया गया। सेकेंड डोज से वंचित लाभार्थियों को विशेष रूप से टीकाकरण किया गया। टीकाकरण केंद्रों पर अधिक से अधिक सेकेंड डोज के ड्यू लाभार्थियों का टीकाकरण करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। सिविल सर्जन से लेकर डीपीएम आदि मॉनिटरिंग करते रहे।

दोनों डोज के अंतराल पर सबको रखना होगा विशेष ध्यान
सिविल सर्जन डॉ. यदुवंश कुमार शर्मा ने कहा कि ऐसे लाभार्थी जिन्होंने कोविडशील्ड टीकाकरण की पहली डोज के बाद 84 दिन या कोवैक्सीन की पहली डोज के बाद 28 दिन पूरे कर लिए हैं, उन्हें ससमय दूसरे डोज से अच्छादित करने का लक्ष्य रखा गया है। कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज लेने से लोग कोरोना वायरस से संक्रमण से पूर्ण तौर पर सुरक्षित हो जाते हैं। उनके शरीर में कोविड- 19 वैक्सीन पहली डोज से विकसित रोग प्रतिरोधक क्षमता का स्तर बना रहे, जिसके लिए सभी लोगों को कोविड- 19 वैक्सीन की दूसरी डोज लेना बहुत जरूरी है।

खबरें और भी हैं...