मिलेगी सुविधा:54 विद्यालयों में मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना से बेंच-डेस्क देने की अनुशंसा

सीवान6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सारण स्नातक निर्वाचन क्षेत्र के विधान पार्षद वीरेंद्र यादव ने जिला योजना पदाधिकारी को पत्र लिखकर मैरवा सहित कई प्रखंड के दर्जनों विद्यालयों को मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना के अंतर्गत बेंच और डेस्क के आपूर्ति की अनुशंसा की है। जिला योजना पदाधिकारी द्वारा जिला शिक्षा पदाधिकारी को पत्र लिखकर उक्त शैक्षिक संस्थानों के सत्यापन करने हेतु अनुरोध किया ताकि यह पता लगाया जा सके कि उक्त संस्थान सरकारी है या अनुदानित है तथा वहां बेंच डेस्क के रख रखाव के लिए पर्याप्त कमरे उपलब्ध हैं या नहीं। जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को निर्देश दिया है कि वे इसका सत्यापन कर जिले को रिपोर्ट प्रदान करें। वीरेंद्र नारायण यादव ने जिन विद्यालयों को बेंच दिया है उनमें मैरवा के 8, नवतन के 4, सीवान सदर के 9, जिरादेई के 4, आंदर के 7, दरौली के 5, गुठनी के 4, रघुनाथपुर के 4, भगवानपुर के 2, पचरुखी के 4, सीवान के 2 तथा महाराजगंज का 1 विद्यालय शामिल है। जिन विद्यालयों में बेंच एवं डेस्क देने की अनुशंसा की गई है उनमें मैरवा के हरिराम हाई स्कूल इंटर कॉलेज में 20 जोड़ी, उत्क्रमित मध्य विद्यालय झझवा में 10 जोड़ी, मध्य विद्यालय मैरवा धाम में 10 जोड़ी, उत्क्रमित मध्य विद्यालय इमलौली में 10 जोड़ी, उत्क्रमित उच्च विद्यालय विलासपुर में 10 जोड़ी, मध्य विद्यालय शीतलपुरा में 10 जोड़ी, उत्क्रमित उच्च विद्यालय बडगांव में 10 जोड़ी, मिश्रीसदा इंटर कालेज में 20 जोड़ी बेंच देने की अनुशंसा की है। वहीं सीवान के डी ए वी मध्य विद्यालय में 10 जोड़ी, जगदेव सिंह उच्च विद्यालय में 15 जोड़ी बेंच दिया जाना है।

सीवान सदर के विद्यालयों को भी मिलेगा योजना का लाभ
सीवान सदर के उत्तक्रमित उच्च विद्यालय सलेमपुर में 20 जोड़ी, मध्य विद्यालय पिठौरी में 20 जोड़ी, डीपीआर कालेज में 50 जोड़ी, डीपीआरडी कालेज में 50 जोड़ी, प्राथमिक विद्यालय भादा खुर्द मे 20 जोड़ी, आर्य कन्या उच्च विद्यालय में 15 जोड़ी, नगरपालिका मध्य विद्यालय में 10 जोड़ी, उत्तक्रमीत उच्च विद्यालय पकड़ी में 10 जोड़ी, उत्तक्रमित उच्च विद्यालय भागड़ में 20 बेंच देने की अनुशंसा की है। जिरादेई प्रखंड के राजकीय मध्य विद्यालय में 30, प्राथमिक विद्यालय भलुआ मुकुंद में 10 जोड़ी, मध्य विद्यालय तीतीरा में 10 जोड़ी तथा मध्य विद्यालय चांद पाली में 10 जोड़ी बेंच की अनुशंसा की है।

आंदर के स्कूलों में दूरी होगी विद्यार्थियों की समस्या, बढ़ाई जाएंगी सुविधाएं
आंदर के राजकीय उत्क्रमित कन्या मध्य विद्यालय सुल्तानपुर को 10 जोड़ी, सेंट्रल हाई स्कूल को 20 जोड़ी, रामानंद यादव इंटर कॉलेज को 20 जोड़ी, नया प्राथमिक विद्यालय बारी टोला को 10 जोड़ी, प्राथमिक विद्यालय बेलही पश्चिम को 10 जोड़ी, मध्य विद्यालय खेडांय को 20 जोड़ी, सेंट्रल उच्च विद्यालय आन्दर में 20 जोड़ी बेंच की अनुशंसा की है। दरौली के बी डी बी उच्च विद्यालय पचबेनिया में 15 जोड़ी, आदर्श कन्या मध्य विद्यालय दरौली में 15 जोड़ी, मध्य विद्यालय हरनाटार में 15 जोड़ी, प्राथमिक विद्यालय गुड़ा कर्मवार में 15 जोड़ी, कन्या प्राथमिक विद्यालय बलिपूनक में 15 जोड़ी बेंच की अनुशंसा की है। गुठनी के उत्क्रमित मध्य विद्यालय बिसवार में 15 जोड़ी, मध्य विद्यालय सेमाटार में 15 जोड़ी, मध्य विद्यालय झझौर में 15 जोडी, आदर्श राजकीय मध्य विद्यालय गुठनी में 15 बेंच और डेस्क मिलेंगे।

रघुनाथपुर और महाराजगंज, पचरुखी में भी होगी आपूर्ति, जमीन पर बैठने से बचेंगे छात्र-छात्राएं
रघुनाथपुर के प्राथमिक विद्यालय मिर्जापुर में 15 जोड़ी, नया प्राथमिक विद्यालय अनुसूचित बस्ती अमवारी में 15 जोड़ी, जयप्रभा कॉलेज पंजवार में 30 जोड़ी, प्राथमिक विद्यालय फुलवरिया में 15 जोड़ी, भगवानपुर प्रखंड के प्राथमिक विद्यालय बंगरा मठिया में 15 जोड़ी, नया प्राथमिक विद्यालय दौलतपुर में 15 जोड़ी बेंच की अनुशंसा की है। वहीं पचरुखी प्रखंड के मध्य विद्यालय मल्लू पुर में 50 जोड़ी, नया प्राथमिक विद्यालय सामुदायिक भवन नैनपुरा में 25 जोड़ी, प्राथमिक विद्यालय नारायणपुर में 35 जोड़ी तथा मध्य विद्यालय पचरुखी में 25 जोड़ी एवं महाराजगंज के उत्क्रमित मध्य विद्यालय तेघड़ा में 25 जोड़ी बेंच दिए जाने की अनुशंसा की है। विधान पार्षद ने वित्तीय वर्ष 19-20 के लिए कुल 950 जोड़ी बेंचो की अनुशंसा की है जिससे इन विद्यालयों के छात्रों को जमीन की बजाय बेंच पर बैठ कर पढ़ने में सहूलियत मिलेगी। वहीं इन विद्यालयों के चयन पर विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों द्वारा विधान पार्षद के प्रति आभार प्रकट किया गया है। उनका कहना है कि इस पहल से स्कूल में शैक्षणिक गतिविधियों के संचालन में आसानी होगी।

खबरें और भी हैं...