निर्देश / महेंद्रनाथ और सोहगरा शिव मंदिर में नहीं लगेगा श्रावणी मेला, 16 मजिस्ट्रेट के साथ जवान तैनात

Shravani fair will not be held in Mahendra Nath and Sohgara Shiva temple, 16 magistrates with jawans posted
X
Shravani fair will not be held in Mahendra Nath and Sohgara Shiva temple, 16 magistrates with jawans posted

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

सीवान/सिसवन. कोविड 19 के बढ़ते संक्रमण के चलते सिसवन प्रखंड के मेहंदार गांव स्थित ऐतिहासिक महेन्द्रनाथ मंदिर तथा गुठनी प्रखंड के सोहगरा धाम में सावन महीने के मौके पर लगने वाले श्रावणी मेला के आयोजन पर  पूरी तरह रोक लगा दी गई है। इसके लिए डीएम के निर्देश पर एसडीओ सीवान  सदर रामबाबू बैठा ने आदेश जारी  कर दिया है। साथ ही आदेश के अनुपालन करने के लिए मंदिर में पुलिस बल के साथ मजिस्ट्रेट की तैनाती कर दी गई है। ताकि श्रावण मास में कोई भी श्रद्वालु पूजा अर्चना करने के लिए नहीं आ सके।

महेन्द्रनाथ मंदिर में 11 मजिस्ट्रेट की तैनाती की है। जबकि सोहगरार शिव मंदिर में 5 मजिस्ट्रेट की तैनाती की है। महेन्द्रनाथ मंदिर में पंचायत सरकार भवन के पास पश्चिम बैरियर के पास एटीएम दीपक कुमार, विश्वकर्मा कुटी के पास पूर्वी बैरियर के पास मनरेगा के कनीय अभियंता किशोर कुमार, मुख्य प्रवेश द्वारा के पास श्रम परिवर्तन पदाधिकारी विकास कुमार, स्नान घाट के पास प्रखंड कृषि पदाधिकारी सिसवन मनोज कुमार, महेन्द्र नाथ मंदिर परिसर गश्ती बीडीओ सिसवन रंजीत कुमार सिंह, मंदिर के पश्चिमी द्वार के पास बाल विकास परियोजना पदाधिकारी राहुल शंकर, मंदिर परिसर सुरक्षित क्षेत्र सीओ सिसवन इन्द्रवंश राय, बंगरे के बारी बैरियर के पास प्रखंड कृषि समन्वयक ब्रजेश बहादुर सिंह, चैनपुर- रसूलपुर मुख्य सड़क द्वार गेट पर प्रखंड कृषि समन्वयक मुन्ना कुमार, मंदिर के उतरी द्वार के पास प्रखंड सांख्यिकी पदाधिकारी मोहन प्रसाद, रामगढ़ की तरफ जाने वाली रास्ता पर ड्राप गेट के पास किसान सलाहकार गुड्‌डू कुमार को मजिस्ट्रेट बनाया गया है।
सावन में बंद रहेंगे शिव मंदिर
एसडीओ ने अपने आदेश में श्रावण मास में सभी मंदिरों को बंद करने का आदेश जारी किया है। एसडीओ ने बीडीओ, सीओ व थानाध्यक्षों को निर्देश दिया है कि कोविड 19 के संक्रमण को देखते हुए बंद रखेंगे। इस आदेश के बाद शहर के महादेवा शिव मंदिर भी प्रभावित होगा। महोदवा शिव मंदिर में भी जलाभिषेक करने के लिए श्रवाण मास में बड़ी संख्या में श्रद्वालु जुटते है। 
नेपाल नरेश ने बनवाया था मंदिर
सिसिवन प्रखंड के  महेन्द्रनाथ मंदिर में श्रावण मास में बड़ी संख्या में श्रद्वालु आते है और यहां के पवित्र कमलदाह सरोवर में स्नान करने के बाद सरोवर के जल को भरकर ही जलाभिषेक करते है। यहां पर बिहार के विभिन्न जिले के अलावा यूपी, झारखंड, ओड़िसा, बंगाल आदि राज्यों से श्रद्वालु े आते है। मंदिर काे नेपाल नरेश महेन्द्र ने बनवाया था।

अधिकारियाें काे दी गई जिम्मेवारी
गुठनी प्रखंड के सोहगरा शिव मंदिर के पूर्वी प्रवेश द्वार पर प्रखंड कृषि पदाधिकारी रामसेवक सिंह, मंदिर के दक्षिण मुख्य प्रवेश द्वार सीढ़ी के नीचे कनीय अभियंता मनरेगा राजीव रंजन, मंदिर के निकास द्वार पर प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी संतोष कुमार, मंदिर के पूर्व मुख्य सड़क ड्राप गेट पर प्रखंड कल्याण पदाधिकारी राजीव कुमार रंजन, मंदिर के दक्षिण ड्राप गेट प्रखंड सांख्यिकी प्रर्यवेक्षक आलोक कुमार सिंह को मजिस्ट्रेट बनाया गया है।

कोराेना वायरस के संक्रमण रोकने के लिए श्रीमहेन्द्रनाथ मंदिर के सचिव व रिटायर्ड कर्नर नरेन्द्रदेव नारायण सिंह व सिसवन के सीओ ने श्रावणी मेला के आयोजन पर रोक लगाने के लिए अनुरोध किया था। इसके बाद डीएम अमित कुमार पांडेय ने एसडीओ व सिविल सर्जन से रिपोर्ट मांगी थी। इसमें सीएस ने पहले ही अपनी रिपोर्ट में मेले के आयोजन नहीं करने की अनुशंसा की थी। एसडीओ की अनुशंसा मिलने के साथ ही डीएम ने मेले के आयोजन पर रोक लगाने का िनर्देश दिया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना