लेफ्टिनेंट बन कर वर्दी पहने घर पहुंचा सीवान का बेटा:परिवार की तीसरी पीढ़ी भी आर्मी में गया, पिता और दादा दे चुके हैं सेवा

सीवान6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
परिवार के साथ सीवान के लेफ्टिनेंट अभिषेक पांडेय। - Dainik Bhaskar
परिवार के साथ सीवान के लेफ्टिनेंट अभिषेक पांडेय।

शनिवार को भारतीय सैन्य अकादमी (IMA) देहरादून में हुए पासिंग आउट परेड में 425 जेंटलमैन कैडेट्स शामिल हुए। जहां बिहार के कुल 29 कैडेट्स शामिल हुए, जिसमें सीवान के मैरवा के लंगड़पुरा गांव के रहने वाले अभिषेक पाण्डेय (22वर्ष) भी शामिल हुए। पासिंग आउट परेड में शामिल लेफ्टिनेंट बने अभिषेक अपने परिवार के तीसरी पीढ़ी हैं, जो भारतीय सेना में शामिल हुए हैं।

अभिषेक के दादा भारतीय सेना में सूबेदार और उनके पिता भारतीय सेना में हलवलदार के पद पर सेवा देते समय रिटायर्ड हुए हैं। वहीं, उनके चाचा अनिल पांडेय भारतीय सेना में हवलदार के पद पर कार्यरत हैं। अभिषेक के लेफ्टिनेंट बनने पर उनके परिवार सहित इलाके में ख़ुशी का माहौल है।

अभिषेक बना सेना में लेफ्टिनेंट,वर्दी पहने पहुंचा घर
मैरवा थाना इलाके के सिवान-गुठनी स्टेट हाइवे पर स्थित लंगड़पुरा गांव के पूर्व सैनिक अजय पांडेय के 22 वर्षीय पुत्र अभिषेक पांडेय ने भारतीय सैन्य अकादमी (IMA) देहरादून में शनिवार को पासिंग आउट परेड में भाग लेने के बाद वर्दी पहने घर पहुंचे। अभिषेक की पढ़ाई मिलिट्री स्कूल अजमेर से हुई हैं। वहीं लेफ्टिनेंट बनकर घर लौटने पर उनका स्वागत किया गया। जिसमें अपने सेना की वर्दी पहने हुए अभिषेक देहरादून से सीवान के मैरवा के लंगड़पुरा गांव स्थित अपने पैतृक घर पहुंचे थे।

दादा रिटायर्ड सूबेदार शिवजी पांडेय के साथ लेफ्टिनेंट अभिषेक पांडेय।
दादा रिटायर्ड सूबेदार शिवजी पांडेय के साथ लेफ्टिनेंट अभिषेक पांडेय।

सेना में परिवार की तीसरी पीढ़ी
शनिवार को भारतिय सैन्य अकादमी (IMA) देहरादून में आयोजित पासिंग आउट परेड में शामिल होने वाले,लेफ्टिनेंट अभिषेक पाण्डेय का परिवार की तीसरी पीढ़ी हैं, जिन्होंने भारतिय सेना मे शामिल हुए हैं। उनके दादा शिवजी पांडेय भारतिय सेना में सुबेदार व उनके पिता अजय पांडेय भी सेना में अपनी सेवा देते हुए हलवलदार के पद से रिटायर्ड हुए हैं। वहीं, उनके चाचा अनिल पांडेय अभी भारतिय सेना में हवलदार के पद पर कार्यरत हैं। अभिषेक एक भाई और एक बहन हैं। छोटी बहन इंदौर में लॉ की पढ़ाई करती है।

सेना के रूप में कार्य करना सौभाग्य की बात
पासिंग आउट परेड में शामिल होकर घर पहुंचे लेफ्टिनेंट अभिषेक ने कहा कि, सेना के रूप में कार्य करना सौभाग्य की बात है। मेरे दादा जी,पिता जी भी सेना में सेवा दे चुके हैं,मेरे चाचा जी अभी सेना में ही है। बहुत खुशी हो रही है। वहीं उनके पिता अजय पांडेय ने कहा कि हम सेना में मामूली हलवलदार हुआ करते थे। बेटा सेना में लेफ्टिनेंट बन गया। अब इससे बड़ी खुशी क्या हो सकती है। हमारे परिवार की तीसरी पीढ़ी सेना में गई है।

वहीं, सेना से सूबेदार के पद से रिटायर्ड शिवजी पांडेय और लेफ्टिनेंट अभिषेक पांडेय के दादा ने कहा कि मेरा पोता आज लेफ्टिनेंट बन गया। इससे पहले मैं और मेरे बेटे दोनों लोग सेना में अपनी सेवा दे चुके हैं। अब हमारे परिवार की तीसरी पीढ़ी सेना में काम करेगी, वह भी लेफ्टिनेंट के रूप में। मुझे गर्व है अपने पोते पर।