पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

महंगाई:हर दिन बढ़ रही खाने-पीने की चीजों की कीमत, सब्जी भी कम नहीं

सीवान15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बढ़ते पेट्रोल-डीजल की महंगाई ने जहां वाहनों के पहियों की रफ्तार को धीमा कर दिया है, वहीं दूसरी तरफ़ दाल और तेल के भाव भी आसमान छू रहे हैं। ऐसे में महंगाई ने लोगों के बजट पर भी असर दिखाना शुरू कर दिया है। महंगाई के कारण रोजमर्रा उपयोग में आने वाली वस्तुओं के बढ़ते भावों ने आमजन को परेशानी में डाल दिया है।किचन का बजट गड़बड़ाने से महिलाएं अधिक परेशान है। गला मंडी थोक राशन दुकानदार राहुल चौरसिया ने बताया कि बीते वर्ष मार्च-अप्रैल में खाने-पीने की सामग्रियों की जो कीमतें थी, उनमें एक दो चीजों को छोड़कर सभी की कीमतें बढ़ गई है। बंगाल से आने वाली केआरबी चावल 70 रुपया से बढ़कर 80 रुपया किलो हो गया है। सभी तरह का चावल का रेट बढ़ गया है। पिछले साल जो आटा 22 रुपया में अच्छी क्वालिटी का मिलता था, वह 25 से 26 रुपया हो चुका है। रानी का तेल प्रति लीटर 35 रुपया बढ़ गया है। खाने का तेल, चायपत्ती,लहसुन, दाल सहित खाने पीने की अधिकांश चीजों की कीमतें बढ़ गई है।

आठ महीने पहले और वर्तमान समय में सामान की कीमत
केआरबी चावल पहले 70 रुपया, वर्तमान में 80 रुपया प्रति किलो, बाबा चावल पहले 47 रुपया किलो, वर्तमान में 55 से 60 रुपया किलों, आटा पहले 22 से 23 रुपया प्रति किलो, वर्तमान में 25 से 26 रुपया किलो, अरहर दाल पहले 90 रुपया किलो, वर्तमान में 110 से 120 रुपया किलो, चना दाल पहले 55 से 60 रुपया किलो, वर्तमान में 70 से 75 रुपए किलो, काबली चना पहले 75 से 80 रुपया किलों, वर्तमान में 90 से 95 रुपए किलों, सोयाबीन तेल पहले 95 से 110 रुपया किलो, वर्तमान में 115 से 120 रुपया किलों, सूर्यमुखी सरसो तेल पहले 95 रुपया लीटर, वर्तमान में 105 रुपए प्रति लीटर की दर से बिक रहीं है।

हर घर में 1000 से 1500 रुपए का बढ़ा बजट, मध्यमवर्गीय परिवार मुसीबत में
हालांकि आलू और प्याज की कीमत जरूर पिछले साल की तुलना में कम है। इस तरह लगभग हर घर में एक हज़ार से 15 सौ रुपये महीने का बजट बढ़ गया है। मार्च-अप्रैल 2020 में जो अरहर दाल 90 रुपया किलो में मिलता था, वह 110 रुपया और कहीं कहीं उससे ज्यादा में भी मिल रहा है। अरहर दाल के साथ ही उड़द, मसूर मटर दाल सभी की कीमत पहले की तुलना में 10 से 15 रुपया प्रति किलो बढ़ गई है। ब्रांडेड कंपनियों की चायपत्ती की कीमत ज्यादा बढ़ी है। इसमें प्रति पाव 10 से 15 रुपया की वृद्धि हुई है। लो क्वालिटी की चायपत्ती की कीमत बढ़ी है। ब्रांडेड कंपनी का आटा 5 किलो वाला कोरोना के पहले 160 में मिल रहा था, वह बढ़कर 180 रुपया हो गया है। खाने का कोई भी तेल 135 लीटर से कम नहीं है। जबकि कोरोना के पहले यह 90 से 110 तक में मिल जा रहा था।

महंगाई कम होने का नाम नहीं ले रही है। घर का बजट भी बिगड़ गया है। आलू -्याज को छोड़कर लगभग सभी सब्ज़ियों और राशन के दामों में वृद्धि हुई है।
शिल्पी सोनी, गृहिणी।

डीजल-पेट्रोल के दाम में कमी लाने के लिए योजना बननी चाहिए। मध्यमवर्गीय परिवार को घर चलाना मुश्किल हो रहा है। परिवार में आमदनी से ज्यादा खर्च हो रहा है।
आरजू खानम, गृहिणी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी भी लक्ष्य को अपने परिश्रम द्वारा हासिल करने में सक्षम रहेंगे। तथा ऊर्जा और आत्मविश्वास से परिपूर्ण दिन व्यतीत होगा। किसी शुभचिंतक का आशीर्वाद तथा शुभकामनाएं आपके लिए वरदान साबित होंगी। ...

    और पढ़ें