10 हजार घरों परहोम क्वारेंटाइन का नोटिस / रेड जोन से आनेवालों को क्वारेंटाइन सेंटर और ग्रीन जोन से आए तो घर में 14 दिन बिताना होगा समय

Those coming from the Red Zone, from the Quarantine Center and Green Zone, will have to spend 14 days at home.
X
Those coming from the Red Zone, from the Quarantine Center and Green Zone, will have to spend 14 days at home.

  • कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए ग्रीन जोन से आए लोगों का किया जा रहा है सर्वे

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 05:00 AM IST

सीवान. जिले में ग्रीन जोन से घर आने वाले लोगों व प्रखंड क्वारेंटाइन से घर जाने वाले लोगों का सर्वे होने लगा है। ताकि, उनपर स्वास्थ्य विभाग के कर्मी नजर रख सकें। साथ ही उन्हें भी यह अहसास हो सके कि होम क्वारेंटाइन में उन्हें कबतक  रहना है और क्या करना है। इसके लिए डीईओ डॉ. प्रमोद कुमार के नेतृत्व में जिले में सर्वे अभियान चल रहा है। यह अभियान 28 मई से शुरू है। अबतक 10 हजार लोगों को चिह्नित किया गया है। उनके घरों पर होम क्वारेंटाइन के लिए नाेटिस चस्पा किया गया है।

पहले दिन 28 मई को 3312 लोगों की पहचान कर उनके घरों पर नोटिस चिपकाया गया है। शेष घरों पर दो दिनों में नोटिस साटा गया। क्वारेंटाइन को लेकर विभाग ने नियमावली में बदलाव कर दिया है। अब रेड जोन से आने वाले लोगों को ही प्रखंडस्तरीय क्वारेंटाइन सेंटर में रहना है। जबकि ग्रीन जोन से आने वाले लोगों को प्रखंडस्तर पर स्वास्थ्य जांच करने के बाद होम क्वारेंटाइन के लिए भेजा जा रहा है। हालांकि स्वास्थ्य जांच के दौरान सबकुछ ठीक- ठाक होने वाले व्यक्ति को ही होम क्वारेंटाइन के लिए भेजा जा रहा है।

किसी में थोड़ा सा भी कोरोना का लक्षण दिखने पर उसकी जांच होने तक प्रखंड क्वारेंटाइन केंद्र में रखा जाता है। जो लोग रेड जोन से आए हैं, उन्हें प्रखंड क्वारेंटाइन सेंटर में 14 दिन पूरे होने पर उसे 7 दिनों के लिए होम क्वारेंटाइन में भेजा जा रहा है। जबकि ग्रीन जोन से आने वाले लोगों को पूरी तरह 14 दिनों के लिए होम क्वारेंटाइन में रहना है। ऐसे ही लोगों का  सर्वे किया जा रहा है। घरों का सत्यापन व पहचान करने के बाद होम क्वारेंटाइन की अवधि पूरी करने की तिथि और निर्देश से संबंधित सूचना का नोटिस घर के बाहर चिपकाया जा रहा है।

टूनेट मशीन से जांच में आठ संदिग्ध
सदर अस्पताल में की गई टूनेट मशीन से जांच के दौरान आठ लोग संदिग्ध पाए गए हैं। शनिवार को सदर अस्पताल के कोराेना जांच केन्द्र में 30 सैंपल लाए गए थे। इनमें से आठ की रिपोर्ट प्रथम दृष्टया पॉजिटिव पाई गई है। हालांकि इस मशीन से पॉजिटिव पाए जाने पर उसकी दूसरी बार जांच के लिए पटना भेजा जाता है। पटना से रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद ही उसे पूरी तरह से पॉजिटिव माना जाएगा। अगर वह रिपोर्ट पटना से निगेटिव हो गया तो उसे निगेटिव माना जाएगा। वहीं सदर अस्पताल में हुई जांच के दौरान अगर रिपोर्ट निगेटिव आती है तो उसे भी पूरी तरह से जांच रिपोर्ट निगेटिव माना जाएगा। 

अबतक 2174 की जांच
अबतक जिले में 2174 लोगों की कोरोना जांच के लिए सैंपल लिए गए हैं। इनमें से महज 194 लोगों की ही जांच रिपोर्ट बाकी है। जबकि इनमें से 82 लोगा पॉजिटिव पाए गए थे। 34 लोगों का इलाज चल रहा है। अन्य सभी लोग स्वस्थ हो गए हैं। इधर, रविवार को भी लगभग पौने दो सौ लोगों की कोराना वायरस जांच के लिए सैंपल लिए गए। इनमें सबसे ज्यादा बड़हरिया प्रखंड क्षेत्र के लोग शामिल हैं।

केंद्रों से 65 प्रवासी मजदूरों को किया गया डिस्चार्ज
हसनपुरा प्रखंड के विभिन्न क्वारेंटाइन सेंटरों पर अन्य प्रान्तों से आए प्रवासी मजदूरों को क्वारेंटाइन के लिए रखा गया है। जहां चिकित्सकों की देख-रेख में रविवार को 65 प्रवासी मजदूरों को डिस्चार्ज किया गया। इस दौरान प्रखंड स्तर पर बने क्वारेंटाइन केंद्रों से 19 व पंचायत स्तर पर बने क्वारेंटाइन सेंटरों से 46 प्रवासी मजदूरों को डिस्चार्ज किया गया।

साथ ही डिस्चार्ज किए गए सभी प्रवासी मजदूरों को फिटनेस सर्टिफिकेट देकर होम क्वारेंटाइन का निर्देश दिया गया। बता दें कि पंचायत स्तर बने क्वारेंटाइन सेंटरों में अब तक 380 तथा प्रखंड स्तर पर बने क्वारेंटाइन सेंटरों पर 1031 प्रवासी मजदूर क्वारेंटाइन कर रहे हैं। कुछ ऐसे पंचायत स्तर पर क्वारेंटाइन सेंटर हैं। जहां अभी तक प्रवासी मजदूर नहीं है। फिर भी शिक्षकों द्वारा ड्यूटी निभाई जा रही है।    

गीत-संगीत से प्रवासियों का बढ़ाया जा रहा मनोबल
सीवान सदर प्रखंड के क्वारेंटाइन सेंटरों पर संगीत शिक्षकों के माध्यम से प्रवासियों का मनोरंजन किया गया। गीत संगीत के माध्यम से प्रवासियों का मनोबल बढ़ाया जा रहा है। यह इसलिए किया जा रहा है ताकि उनके बीच नकारात्मक विचार न आए और उसे सकारात्मक बनाने के लिए संगीत के द्वारा जिला प्रशासन प्रयास कर रहा है। डीडीसी सुनील कुमार के द्वारा जिले के उच्च विद्यालयों में तैनात सभी संगीत शिक्षकों की ड्यूटी क्वारेंटाइन सेंटरों पर लगाई है। बीडीओ रमेंद्र कुमार ने बताया है कि संगीत शिक्षक मुरारी कुमार सिंह, प्रभुनाथ, दीपक, रामकिशुन अकेला, उपेंद्र कुमार, प्रभा, दवेंद्र, वृजकिशोर चौहान, तेननाथ साह आदि विभिन्न सेंटरों पर मनोरंजन करा रहे हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना