पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सामाजिक बहिष्कार:ग्रामीणों ने घेरा एचएमनगर थाना, कहा-जिसे पकड़ा गया वह शराब नहीं बेचता

हसनपुराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एमएच नगर थाना पुलिस की कार्यशैली से नाराज ग्रामीणों ने थाने का घेराव किया। लोगों का कहना है कि पुलिस शराब के मामले में पकड़े गए धंधेबाजों को थाने में बुलाती है और पैसे लेकर उसे छोड़ दिया जाता है। ऐसे लोगों को जेल भेजा जाता है जिसने इस धंधे को छोड़ दिया है। शुक्रवार को इसी बात को लेकर गांव के लोगों ने थाने काे घेरा। ग्रामीणों ने बताया कि 15 जून को मेरही में 20 लीटर देसी शराब जब्त की गयी थी। धंधेबाज पुलिस के सामने भाग गया था। बावजूद पुलिस ने इस मामले में गांव के ही रामभरोसा भगत को नामजद अभियुक्त बनाकर जेल भेज दिया। जबकि इस धंधे को छोड़ चुका है।

थाने पहुंचे नामजद अभियुक्त की पत्नी सहित राजमती देवी, संगीता देवी, पानमती देवी, चिंता देवी, रामरती देवी, श्याम सिंह, राजदेव भगत, उच्छा लाल भगत, ओमप्रकाश चौधरी, नवीन साह, कमलदेव यादव, प्रेमचंद सिंह, चंद्रिका प्रसाद, सरोज शर्मा आदि लोगों का कहना है कि जिसे जेल भेजा गया है वह पहले इस धंधे में था। जेल से छूटने के बाद उसका सामाजिक बहिष्कार करने को लेकर पंचायत हुई थी। उसने कसम खाई थी कि वह शराब नहीं बेचेगा।

खबरें और भी हैं...