पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तैयारी:धनबल व बाहुबल रोकने के लिए रखनी होगी पैनी नजर

सीवान10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अगामी विधानसभा चुनाव को लेकर पुलिस पदाधिकारियों को नगर परिषद में दिया गया प्रशिक्षण

नगर परिषद स्थित सभाकक्ष में शुक्रवार को निर्वाचन कार्य व विधि व्यवस्था को लेकर सभी थानाध्यक्षों का प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। इसमें स्वच्छ ,निष्पक्ष व शांतिपूर्ण विधानसभा चुनाव को सफल बनाने की जानकारी दी गई । वरीय उपसमाहर्ता साकेत कुमार ने कहा कि धनबल व बाहुबल रोकने के लिए सभी थानाध्यक्षों को अपने-अपने क्षेत्र में पैनी नजर रखनी होगा।

कमजोर वर्ग के मतदाताओं के टोला का भ्रमण कर उनके बीच विश्वास जगाने का काम करेंगे। मतदान को प्रभावित करने वाले लोगों को चिन्हित कर सूची तैयार करने की बात कही। कहा कि ऐसे लोगां पर कार्रवाई भी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह बहुत महत्वपूर्ण कार्यशाला है। आप सभी अपने कर्तव्यों को अच्छी तरह समझेंगे तो निर्वाचन प्रक्रिया शांतिपूर्ण माहौल में संपन्न हो जाएगी।

आपके कार्यों से ही माहौल बनेगा। उन्होंने कहा कि अगर कोई व्यक्ति पैसा लेकर जाता है तो उसकी जांच करें और नियामानुसार उस पर कार्रवाई भी हो। अचारसंहिता लागू होते ही अपने-अपने क्षेत्र में देखे कि इसका कोई उल्लंघन नहीं करे। इस पर विशेष ध्यान देना होगा। मौके पर विधि सह परिविक्षक पदाधिकारी रवि प्रकाश, नगर इंस्पेक्टर जयप्रकाश पंडित सहित अन्य मौजूद रहें।
अपराधियों व दागी लोगों का सूची करें तैयारी
प्रशिक्षण के दौरान थानेदारों को बताया गया कि अपने-अपने क्षेत्र के अभ्यासिक अपराधियों व दागी लोगों की सूची तैयार करें ताकि वैसे लोगों को चिन्हित होने के बाद आगे की कार्रवाई हो सके। चुनाव से संबंधित अगर कोई आपके थाना में केश लंबित है तो उसका भी जांच शुरू करें। सशस्त्रों का सत्यापन को लेकर भी प्रशिक्षण में निर्देश दिया गया। उन्होंने शराब सहित अन्य पर भी कार्रवाई करने की बात कही। कहा कि इसके लिए लगातार छापेमारी क्षेत्र में चलना चाहिए। निर्देश दिया कि विस चुनाव को निष्पक्ष, पारदर्शी व भयमुक्त बनाने के लिए अभी से ही लग जाना होगा।

एम थ्री मॉडल के ईवीएम के संबंध में दी गई प्रशिक्षण: नगर परिषद में थानाध्यक्षों को एम थ्री मॉडल के ईवीएम के इस्तेमाल के संबंध में प्रशिक्षण दी गई। बताया गया कि पुरानी ईवीएम मशीन में जहां अधिकतम 64 प्रत्याशियों के नाम व चुनाव चिह्न फीड हो सकते थे, वहीं नई ईवीएम में 348 प्रत्याशियों के नाम व चुनाव चिह्न फीड हो सकते हैं।नई ईवीएम की एक खास बात यह है कि ईवीएम, बैलेट यूनिट या वीवी पैट में से किसी में भी गड़बड़ी आने पर इसकी सूचना सीधे पीठासीन पदाधिकारी को मिल जाएगी।

एम थ्री मॉडल का ईवीएम सेल्फ डायग्नोस्टिक है, इसलिए इनकी मरम्मत में अधिक समय नहीं लगेगा और चुनाव में ईवीएम की गड़बड़ी के कारण बाधा नहीं आएगी। ईवीएम का यह नया मॉडल इस मायने में भी मतदाताओं के लिए महत्वपूर्ण है कि वोट देने के बाद स्क्रीन पर वह चुनाव चिह्न दिखायी देगा जिसे मतदाता ने वोट किया है। इसके अलावा वीवी पैट में सात सेकेंड के लिए पर्ची निकलेगी।

खबरें और भी हैं...