पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

योजना:युवा 84 किस्तों में चुका सकते हैं पांच लाख का लोन

सीवान2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मुख्यमंत्री युवा उद्यमी और महिला उद्यमी योजना का मुख्यमंत्री ने ऑनलाइन किया शुभारंभ

अब जिले की महिलाएं उद्यमी बनेंगी। इसके लिए सरकार ने पांच लाख रुपये तक उद्योग स्थापित करने के लिए अनुदान देने की शुरुआत की है। ताकि लोग छोटे स्तर पर उद्योग स्थापित कर स्वावलंबी बनने के साथ ही लोगों को भी रोजगार उपलब्ध करा सके। शुक्रवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना से मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना एवं मुख्यमंत्री महिला उद्यमी योजना का वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से शुभारंभ एवं पोर्टल का लोकार्पण किया। इस दौरान जिले से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिला उद्योग महाप्रबंधक मुकेश रंजन सहित अन्य अधिकारी जुड़े रहे।

इसके अलावा अन्य लोग भी उद्यमी भी जुड़े। इन लोगों ने सीएम के कार्यक्रम को देखा और सुना। इसके अलावा लोगों ने टीवी पर भी जगह जगह कार्यक्रम को देखा।इस योजना के अंतर्गत केवल नये उद्योंगों के स्थापना के लिए लाभ देय होगा । इन इकाइयों को बिहार औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन निति 2016 का लाभ भी देय होगा।चयन के उपरांत लाभुकों के प्रशिक्षण के लिए प्रति इकाई रूपया 25 हजार की व्यवस्था की गयीं है।स्वीकृत राशि अधिकतम दो किस्तों में भुगतान किया जायेगा। योजना का लाभ परिवार के किसी

महिलाओं को पांच लाख रुपया बिना ब्याज के दिए जाएंगे
महाप्रबंधक ने बताया कि लोगों को रोजगार स्थापित करने करने के लिए मुख्यमंत्री एससी-एसटी और अति पिछड़ा उद्यमी योजना पहले से चल रही है। वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए मुख्यमंत्री युवा योजना में ओबीसी और सामान्य वर्ग और महिला उद्यमी योजना की शुरूआत की गई है। इस योजना का लाभ लेने के लिए इच्छुक लोग ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के लिए उम्मीदवारों का चयन उद्योग विभाग के अपर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बनी 11 सदस्यीय कमेटी के माध्यम से की जाएगी। इसके लिए आवेदन ऑनलाइन के माध्यम से पोर्टल पर आवेदन करना होगा। इसके लिए लाभार्थियों को इंटर पास होना अनिवार्य है। मुख्यमंत्री महिला उद्यमी योजना के तहत महिलाओं को नए उद्योग शुरू करने के लिए सरकार द्वारा दस लाख कर ऋण दिया जाएगा। इसमें योजना की कुल लागत का 50 फीसद या अधिकतम पांच लाख रुपया तक अनुदान दिया जाएगा। वहीं, शेष पांच लाख रुपया बिना ब्याज के दिए जाएंगे। यह राशि लाभुकों को 84 किस्तों में लौटानी होगी।

खबरें और भी हैं...