विशेष निगरानी:घाटों से नाव परिचालन, सेल्फी व पतंगबाजी पर आज भी रहेगी नजर

सोनपुर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मकर संक्रांति पर सबलपुर रायपुर दियारा क्षेत्र पर नजर रखते प्रशासनिक अधिकारी। - Dainik Bhaskar
मकर संक्रांति पर सबलपुर रायपुर दियारा क्षेत्र पर नजर रखते प्रशासनिक अधिकारी।
  • मकर सक्रांति पर सबलपुर रायपुर दियारा क्षेत्र में घाटों पर रही प्रशासन की विशेष निगरानी

जिले में पिछले साल की तरह ही 14 एवं 15 जनवरी को मकर संक्रांति मन रही है। इस मौके पर गंगा नदी में स्नान करने के लिए बड़ी संख्या में लोग घाट किनारे पहुंचे हैं। इस दौरान पतंगबाजी के लिए युवा वर्ग एक घाट से दूसरे घाट पर आने-जाने के लिए नावों का परिचालन करते है। सुरक्षा के दृष्टिकोण से निजी नावों का परिचालन पूर्णत: बंद रखा गया है। गंगाब्रिज के समानान्तर बने पीपापुल पर से सेल्फी, चाईनीज मांझा युक्त धागा से पतंगबाजी पर भी प्रतिबंध लागू है। यह प्रतिबंध शनिवार को भी जारी रहेगा।

सुरक्षा के दृष्टिकोण से 14 से 15 जनवरी तक निषेधाज्ञा लागू रहेगा। सदर एसडीओ अरुण कुमार के निर्देशानुसार हाजीपुर अनुमंडल क्षेत्र के विभिन्न घाट से दूसरे घाट एवं पीपापुल से सेल्फी व पतंगबाजी के लिए नवयुवकों में होड़ लगी रहती है। इस दौरान घाट किनारे अधिक भीड़ होने से किसी प्रकार की अनहोनी की घटना नहीं इसके लिए निषेधाज्ञा लगाया गया है। हाजीपुर अनुमंडल क्षेत्र अंतर्गत महात्मा गांधी सेतु, पीपापुल, पुराना गंडक पुल, नया गंडक पुल, कच्ची दरगाह, रुस्तमपुर पीपापुल, चेचर जमींदारी घट पीपापुल, पुराना गंडक एवं अनुमंडल क्षेत्र के सभी पुल-पुलिया पर से सेल्फी लेने पर प्रतिबंध लगाया गया है। निषेधाज्ञा आदेश का अवहेलना करने वाले नाविकों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

|वर्ष 2017 में मकर सक्रांति के अवसर पर सबलपुर में नाव दुर्घटना में दो दर्जन लोगों की मौत के बाद से वहां पर्यटन विभाग द्वारा आयोजित होने वाले पतंगोत्सव का आयोजन तो बन्द हो ही गया। लेकिन प्रशासनिक स्तर पर सुरक्षा के व्यापक स्तर रहते है। सबलपुर रायपुर हसन एक ऐसा स्थान है जहां सबलपुर से एक घंटे की दूरी गंगा के रास्ते तय कर पहुंचा जा सकता है। जबकि पटना के गांधी घाट के सामने से मात्र 10 से 15 मिनट में नाव के सहारे यहां लोग पहुंचते हैं।

गंगा नदी के बीचोंबीच टापूनुमा इस दियारा की प्राकृतिक सौंदर्य ही ऐसी की त्योहारों में खासकर युवा वर्ग यहां पिकनिक मनाए व अपने दोस्तों के साथ सुकून का पल बिताने आते है। शुक्रवार को भी सोनपुर के एसडीओ सुनील कुमार, सीओ अनुज कुमार, थानाध्यक्ष अकिल अहमद व प्रखण्ड उद्यान पदाधिकारी पवन कुमार समेत अन्य पदाधिकारी लगातार वहां मौजूद रहे। साथ ही बोट से गंगा नदी में पेट्रोलिंग कर नाव परिचालन पर नजर रखे रहे। वहां एहतियातन दंडाधिकारियों के नेतृत्व में पुलिस बल के साथ साथ एसडीआरएफ की टीम को प्रतिनियुक्त किया गया था। एसडीओ ने बताया कि 14 वे 15 जनवरी को गंगा व नारायणी नदी में निजी नाव के परिचालन पर रोक है। विदित हो कि उस नाव दुर्घटना के बाद प्रशासनिक लापरवाही बरतने के आरोप में सारण जिले के कई बड़े पदाधिकारियों पर कार्रवाई की गई थी।

खबरें और भी हैं...