पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लापरवाही:प्राथमिक विद्यालय के चारों तरफ गंदगी होने से शिक्षक हैं परेशान

तरारी11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्कूल में 50% शिक्षकों की उपस्थिति कोरोना गाइडलाइन के अनुसार जरूरी है

शिक्षा विभाग की उदासीनता के कारण तरारी प्रखण्ड सह अंचल कार्यालय के निकट प्राथमिक विद्यालय, मुसहर टोली के चारों तरफ गंदगी है। असामाजिक तत्व इसके इर्द-गिर्द शौच भी कर देते हैं। इससे शिक्षकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कोरोना के कारण अभी स्कूल बंद हैं, पर कुछ दिन में खुल सकते हैं। इस बीच, बारह जुलाई से सभी स्कूल का कार्यालय खुल गया है।

यहां तक कि स्कूल में पचास प्रतिशत शिक्षकों की उपस्थिति कोरोना गाइडलाइन के अनुसार होना है। स्कूल में तीन शिक्षक हैं। स्कूल के रास्ते से लेकर बरामदे तक आसपास के रहने वाले कुछ लोगों द्वारा शौच किये जाने से गंदगी फैला हुआ है। दुर्गंध के कारण शिक्षकों को स्कूल जाना मुसीबत जैसा बन गया है। एकांत जगह देखकर महिलाएं और बच्चियां शौच करने के लिए जाती है। जिसे रोक पाना शिक्षकों की बस की बात नहीं रह गयी है।

प्रखंड कार्यालय के मुख्य दरवाजे के समीप महादलित परिवारों के करीब 150-200 की संख्या में महिला पुरुष एवं बच्चे बच्चियां रहते हैं। जिन्हें वहां से हटाने के लिए प्रशासनिक स्तर पर कई बार प्रयास किया गया। उन्हें बसाने के लिए पनपुरा गांव के इर्द-गिर्द जमीन भी देने का बात सामने आई थी। लेकिन वहां से जाने पर नही तैयार हुए। महादलित टोला में एक भी शौचालय नहीं बना है। जिस कारण महिलाओं को शौच के लिए इधर उधर एकांत जगह जाने के लिए भटकना पड़ता है।

शिक्षक बोले- दुर्गंध से रहना मुश्किल, फैल सकती है बीमारी
स्कूल में एक महिला समेत तीन शिक्षक हैं। कोरोना गाइडलाइन के अनुसार सरकारी निर्देशानुसार हेडमास्टर को प्रतिदिन स्कूल आना-जाना है। अन्य शिक्षकों को पचास प्रतिशत की उपस्थिति अनिवार्य है। लेकिन गंदगी के कारण दुर्गंध के बीच शिक्षकों को स्कूल में रहना पड़ रहा है। शिक्षक उमेश कुमार ने बताया कि रास्ते से लेकर बरामदे तक गंदगी है।

शौच करते हुए देखने पर टोका टोकी करने पर उल्टे ही मुझे ही अपशब्द सुनना पड़ जाता है। डरकर बोल नहीं पाते हैं हमलोग। हेडमास्टर सत्यनारायण सिंह ने कहा कि दुर्गंध के बीच रहकर ऑफिस में कार्याें का निपटारा किया जाता है। गंदगी को देखते हुए लगता है कि नौकरी बचाने के चक्कर में किसी गम्भीर बीमारी से ग्रसित न हो जाये, हम सभी शिक्षक। हेडमास्टर ने कहा कि गंदगी फैलाये जाने के रोकथाम को लेकर कई बार विभागीय अधिकारी को सूचित किया जाता है। लेकिन कोई कदम नही उठाये जाने पर स्वतः सफाई कराने में लगना पड़ता है। प्रखंड सह अंचल कार्यालय में अंचल गार्ड हर समय रहते हैं। फिर भी जानवरों तथा गंदगी फैलाने वालों को आना जाना लगा रहता है।

खबरें और भी हैं...