वैक्सीन:तरारी के ग्रामीणों ने टीका लेने से किया था इनकार, दुबारा नहीं गई स्वास्थ्य टीम

तरारी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तरारी सीएचसी में टीका के लिए लगी भीड़। - Dainik Bhaskar
तरारी सीएचसी में टीका के लिए लगी भीड़।

प्रखंड मुख्यालय स्थित सीएचसी में 60 लोगों का कोविड-19 का टीका दिया गया। पूर्व में कई गांवों के ग्रामीण कोविड-19 का टीका लेने से हाथ खड़े कर दिए थे। जबकि इस समय टिका लेने के लिए लोग सड़क जाम करने लगे हैं। क्षेत्र के पांच गांवों के ग्रामीण जागरूकता के अभाव में टिका लेने से इंकार करने के बाद पुनः स्वास्थ्य विभाग की टीम वहां जाने से अभी तक मुंह मोड़ते आ रहा है।

क्षेत्र के लक्षिडीह, डिलियां, सुरमाना, किसाईडीह, मोआपखुर्द, सहियारा के ग्रामीण जून माह में दिए जा रहे कोविड-19 का टीका गांव में कैम्प लगने के बावजूद भी टिका लेने से इंकार कर दिया था। जिसके बाद आजतक वहां टिकाकरण कैम्प नही लग सका। इस तरह का मामला कुछ और गांवों से भी आया था लेकिन पुनः प्रयास के बाद लोगो ने टिका लगवाया था।

हालांकि कोरोना का दूसरा लहर समाप्ति तथा 18 प्लस वेक्सिन देने का कार्य शुरू होने के बाद टिका लेना लोग शुरू कर दिए हैं। ज्ञात हो कि क्षेत्र में 115 गांव है। जहाँ कोरोना संक्रमण से पहला मौत पनवारी में 2020 में हुआ था। 2021 मे नए संक्रमण की संख्या 250 था। एक माह के अंतराल में एक भी पॉजिटिव होने का मामला सामने नही आया है।

टिका दिए जाने का कार्य जून माह से शुरू हुआ था। जो अबतक प्रथम और सेकेण्ड डोज मिलाकर कुल 26820 टिका दिया जा चुका है। टिकाकरण कैम्प में कोरोना गाइड लाइन का बिल्कुल ही नही पालन किया जा रहा है। तरारी सीएचसी में टिका लेने के लिए काफी भीड़ लग जा रही है। काफी संख्या में सीएचसी में गार्ड की ब्यवस्था होने के बावजूद भी स्वास्थ्य विभाग लापरवाह बनी हुई है।

अबतक कोरोना से हुई मौत के मामले में बिहटा मुखिया ऋषिमुनि देवी का आवेदन जामा करने के बावजूद भी मुआवजा नही मिल पाया है। मुखिया पति सह समाजसेवी शिवशंकर सिंह ने बताया कि मई माह में ही आवेदन मुआवजा के लिए जामा किया गया था। अंचल कार्यालय के अनुसार कुल आठ आवेदन सीओ ऑफिस में आया है।

जिसमे एक मृतक के परिजन को मुआवजा मिल गया है। मृतकों के परिजनों द्वारा कोरोना से हुई मौत प्रमाण पत्रों के साथ मुआवजा के लिए दिए गए आवेदन के आधार पर राजवंश तिवारी-बिहटा, धर्मेन्द्र तिवारी-बेरई, पूर्णवासी साह-चंदा, भोला सिंह- ईमादपुर, चन्द्रशेखर की पत्नी जेठवार , दुलारो देवी- तरारी का का नाम शामिल है। जबकि भाकपा माले द्वारा किये गए सर्वे के आधार पर कोरोना से हुई मौत का 374 आवेदन मुआवजे के लिए सीओ ऑफिस में जामा किया गया है।

खबरें और भी हैं...