कार्रवाई:अमौर के सीएसपी संचालक साथी के साथ धराया

अमौर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अवैध निकासी के आरोप में कानूनी प्रक्रिया के बाद दोनों आरोपी को फरीदाबाद पुलिस अपने साथ ले गई

फरीदाबाद पुलिस ने शुक्रवार के देर रात साइबर क्राइम के मामले में अमौर पुलिस की सहयोग से अमौर थाना क्षेत्र से दो अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है।गिरफ्तार अभियुक्तों में बड़ा ईदगाह पंचायत के निमुआ गांव निवासी मो. हारूण(सीएसपी संचालक) एवं इसी पंचायत के छपरैली गांव निवासी डोमर विश्वास है।गिरफ्तार दोनों के उपर फरीदाबाद में एक महिला के बैंक खाते से साइबर क्राइम के माध्यम से 30 हजार रुपये निकासी करने का आरोप है।मिली जानकारी के अनुसार फरीदाबाद के मलरैना की रहने वाली पंकज शर्मा पति अशोक शर्मा ने फरीदाबाद सेक्टर 19 थाना में 22 फरवरी को अपने खाते से अवैध पैसा गायब होने का मामला दर्ज करवाया था।फरीदाबाद में दिए आवेदन में पीड़िता ने कहा था कि गुड़गांव स्थित ग्रामीण बैंक में खाता है। उनके खाते से बीते 19 फरवरी की सुबह2.29 मिनट को 10 हजार और उसी दिन शाम 8:47 बजे 10 हजार रुपए की निकासी कर ली। वहीं 20 फ़रवरी की सुबह 6:29 बजे 10हजार रुपए निकाल लिए गए जबकि मेरे पास कोई भी मैसेज या ओटीपी नहीं आया था।पंजक शर्मा ने आशंका जताई थी कि उन्होंने 5जनवरी 2022 और 5 फारवरी को बल्लभगढ तहसील में रजिस्टरी कराई थी उस पर मैने हस्ताक्षर और अंगूठा लगाया था।जिसके बाद फरीदाबाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की। फरीदाबाद पुलिस की टेक्नीकल जांच में अमौर थाना क्षेत्र के दो अभियुक्तों का नाम इस साइबर क्राइम मामले में आया। फरीदाबाद पुलिस को पता चला कि राशि की निकासी सीएसपी संचालक मो. हारूण व छपरैली गांव निवासी डोमर विश्वास के द्वारा की गई है। जिसके बाद फरीदाबाद की पुलिस अमौर पहुंच कर अमौर थाना से संपर्क किया।फरीदाबाद पुलिस ने अमौर पुलिस की सहयोग से बड़ा ईदगाह पंचायत के निमुआ गांव निवासी सीएसपी संचालक मो. हारूण व छपरैली गांव निवासी डोमर विश्वास को गिरफ्तार किया। मामले को लेकर अमौर थानाध्यक्ष राजीव कुमार आजाद ने बताया कि साइबर क्राइम मामले में दो लोगों को फरीदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपियों पर फरीदाबाद में एक महिला के बैंक खाते से खाते से अवैध निकासी का आरोप है।कानूनी प्रक्रिया के बाद दोनों आरोपी को फरीदाबाद पुलिस अपने साथ ले गई है।

खबरें और भी हैं...