पूर्णिया के जिला अल्पसंख्यक कार्यालय में लाभुक का बवाल:अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना में नाम नहीं आने पर भड़के, मेन गेट बंदकर की नारेबाजी

पूर्णिया3 महीने पहले
पूर्णिया के जिला अल्पसंख्यक कार्यालय में लाभुक का बवाल

पूर्णिया में मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना के तहत योग्य लाभुकों का नाम सूची में प्रकाशित नहीं होने के कारण शनिवार को जिला अल्पसंख्यक पदाधिकारी के कार्यालय में जमकर हंगामा किया गया। लाभुकों ने कार्यालय के मेन गेट को बंदकर अधिकारियों के खिलाफ में जमकर नारेबाजी की। यह देखते ही कार्यालय के सभी अधिकारी व कर्मचारी अंदर ही दुबके रहे। सूचना मिलने पर केहाट थाना पुलिस पहुंची और लोगों को समझा बुझाकर शांत किया।

पीडित लाभुकों ने अल्पसंख्यक पदाधिकारी, डीएम व डीडीसी को आवेदन देकर प्रकाशित सूची के कार्यान्वयन पर तत्काल रोक लगाने और मामले की जांच कराने की मांग की है। लाभुक ने अधिकारियो पर अयोग्य व कम अंक वालो का नाम प्रकाशित करने का आरोप लगाया है।

लाभुकों ने बताया कि मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना में व्यापक रूप में अनियमितता हुई है। प्रकाशित सूची प्रखंड वार नहीं है और कौन लाभुक ने कितने अंक लाए हैं यह भी अंकित नहीं है। ऋण के लिए योग्य लाभुकों का नाम हटाकर अयोग्य लाभुकों का नाम प्रकाशित किया गया है। जो लोग ग्रेजुएशन और इंटर किए हैं उनका नाम सूची से गायब है। जबकि अंडर मैट्रिक वालों का नाम सूची में समावेश किया गया है। यहां तक कि ग्रेजुएशन किए दिव्यांग लाभुकों का भी नाम सूची से गायब है।

बता दें कि सरकार ने शिक्षित अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों स्वरोजगार के लिए मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना लागू किया है। इस योजना में शैक्षणिक योग्यता के आधार पर एक लाख से लेकर 5 लाख तक का ऋण दी जाती है। लेकिन जारी सूची से अधिक योग्यता वाले लाभुको का नाम गायब कर दिया गया है।