हादसा:जेल चौक के पास पेड़ में सटने से तार में लगी आग

पूर्णियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पेड़ से सटे बिजली के तार में लगी आग। - Dainik Bhaskar
पेड़ से सटे बिजली के तार में लगी आग।
  • आस्था मंदिर से श्रीनायक होटल के पास से गुजरती बिजली की नंगी तारें हैं खतरनाक

जेल चौक पर गुजरने वाली बिजली की नंगी तार का पेड़ में सट जाने के चलते मंगलवार को आग लग गई। उससे निकलती लपटें आसपास के दुकानदारों में अफरातफरी का माहौल बन गया। इस बीच किसी ने बिजली विभाग को सूचना देकर लाइन कटवाई। टायर दुकानदार मतीउर रहमान ने पेड़ से सटे बिजली की तार दिखाते हुए बताया कि बिजली कर्मी तो बराबर यहां आते-जाते हैं लेकिन इस नंगी तार को ढकने का कोई प्रयास नहीं हुआ। आग की जैसे तेज लपटें उठ रही थी अगर लाइन काटने में दो मिनट और लेट हो जाता तो बड़ा हादसा हो सकता था। कितनी दुकानें जल सकती थी। जेई को सूचना मिलते ही उन्होंने शटडाउन करवाया। गौरतलब है कि जेल चौक के दोनों तरफ से गुजरने वाली बिजली की नंगी तार पेड़ को छूती है। मामूली हवा वर्षा में बिजली की तार पेड़ से सट सटती है वैसे स्थिति में बराबर-बराबर आग लगने की आशंका बनी रहती है। मंगलवार को बारिश थमने के बाद जैसे बिजली आई, वहां आग लग गई। इससे आसपास के दुकानदार काफी डर गए। जब किसी ने जेई को फोन कर वहां का लाइन कटवाया, तब आग शांत हुई। आसपास के लोगों ने बताया कि बिजली विभाग तभी जगता है, जब कोई दुर्घटना घट जाती है। दुर्घटना से पूर्व यदि इस दिशा में ध्यान दिया जाए तो दुर्घटना की आशंका ही नहीं रहेगी। बिजली विभाग के एसडीओ सियाराम कुमार ने बताया कि यह 11 हजार वोल्ट का तार है। इसे केबलिंग कर पाना असंभव है और तार पेड़ से सटा है। इन बड़े पेड़ों के कारण बिजली सप्लाई में परेशानी हो रही है। हमलोग पेड़ की डाली तो काट सकते हैं लेकिन पेड़ काटना वन विभाग की जिम्मेवारी है। इसके लिए हमलोगों ने कई बार वन विभाग के रेंजर को सूचना दी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। यदि हमलोग पेड़ काटते हैं तो हमारे ऊपर प्राथमिकी दर्ज करा दी जाएगी। मंगलवार को आग लगने के बाद भी मैंने स्वयं उन्हें मोबाइल से सम्पर्क साधा,लेकिन उन्होंने मोबाइल रिसीव नहीं किया। इस संबंध में वन विभाग के रेंजर के मोबाइल-9430449011 पर सम्पर्क करने का प्रयास किया गया तो उनका नम्बर नॉट रिचेवल आया।

खबरें और भी हैं...