परेशानी:11 महीने में 191 रुपए बढ़ी रसोई गैस की कीमत

कसबा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गैस गोदाम में रखे गैस सिलेंडर - Dainik Bhaskar
गैस गोदाम में रखे गैस सिलेंडर
  • महंगाई बढ़ने से आम लोग हो रहे परेशान, घर खर्च में भी हो रही कटौती

महंगाई की मार से जहां आम जनता की कमर टूट रही है, वहीं पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस से लेकर किराना सामान महंगा होने के बाद अब सपनों का आशियाना बनाना भी मुश्किल हो रहा है। भवन निर्माण सामग्री के दाम बढ़ने से मकान की लागत बढ़ रही है। इसके कारण आम जनता परेशान हैं। भवन निर्माण की सामग्री ईंट, सीमेंट, बालू, गिट्टी, सरिया के दाम बढ़ रहे हैं। इसके साथ-साथ दैनिक मजदूरों की कमी की वजह से मकान बनाने में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लेबर चार्ज बढ़ने के कारण ठेकेदारों ने भी रेट बढ़ा दिए हैं। भवन निर्माण सामग्री में सबसे ज्यादा सरिया के दाम में इजाफा हुआ है। कई लोगों ने बीच में ही घर बनाना छोड़ दिया है। कई दुकानदारों का कहना है कि तीन से चार माह के दौरान ग्राहकों में भारी कमी आयी है। हिन्दू वाहनी के जिलाध्यक्ष बमबम साह ने बताया कि पेट्रोल डीजल के दाम में इजाफा होने की वजह से महंगाई चरम पर है। हर प्रकार के सामग्री के दाम आसमान छू रहे हैं। घरेलू गैस की कीमत में इजाफा होने से बजट प्रभावित हो रहा है।

खर्चों में करनी पड़ रही कटौती

मंहगाई बढ़ने से लोगों को हर क्षेत्र में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अभी शादी का सीजन चल रहा है। मंहगाई की वजह से वर-वधू पक्ष दिल खोलकर खर्च भी नहीं कर पा रहे हैं। लड़की वाले तो बड़े-बड़े मैरिज हॉल या होटल में शादी करने की सोच भी नहीं रहे हैं। हर प्रकार की कटौती कर किसी प्रकार शादी संपन्न हो जाए, इसी बात की जुगत में लगे हैं। बढ़ती महंगाई के कारण रिश्तेदारों और आमंत्रित मेहमानों की सूची भी कम कर दी जा रही है।

गैस के कीमत में बढ़ोतरी से बिगड़ा किचन का बजट
राशन के साथ-साथ रसोई गैस के दाम में इजाफा होने के साथ ही अब घर का बजट बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। गृहणियों का कहना है कि पिछले साल करीब 900 रुपए में गैस सिलेंडर खरीदना पड़ता है, अब तो रसोई गैस के लिए 1098.50 रूपए चुकाने पड़ रहे हैं। आने वाले दिनों में मंहगाई क्या रंग दिखाती है, यह तो समय ही बताएगा। भारत गैस एजेंसी के प्रोप्राइटर संदीप कुमार के अनुसार जून 2021 में घरेलू गैस की कीमत 907 रुपए, जुलाई में 932 रुपए, सितंबर में 982.50 रुपए, दिसंबर में 997.50 रुपए के हिसाब से बढ़ता गया। वहीं 22 मार्च 2022 को कीमत 1047 तक पहुंच गया। सात मई को एक बार फिर से गैस के दाम में इजाफा किया गया और अब 1098.50 रुपए में लोगों को गैस सिलेंडर मिल रहा है।

मध्यमवर्गीय परिवार पर सबसे ज्यादा बोझ

महंगाई बढ़ने से न सिर्फ गरीब परिवारों के बुरे दिन आ गये हैं, बल्कि मध्यमवर्गीय परिवार भी मंहगाई के जद में आकर परेशान है। सर्वाधिक मार मध्यमवर्गीय परिवारों पर पड़ रही है। यही वजह है कि मकान बनाना भी पहुंच से बाहर हो रहा है। मकान निर्माण में प्रयुक्त होने वाली सामग्री के दाम आसमान छू रहे हैं। सीमेंट के दाम में 40 से 50 रुपए की वृद्धि हुई है। वहीं सरिया के दाम में एक हजार से 1200 रूपए तक की बढ़ोतरी हुई है।

खबरें और भी हैं...