बाढ़ का कहर:परमान का जलस्तर बढ़ा, नए क्षेत्र में फैल रहा पानी

बायसीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बायसी में बाढ़ के पानी में थर्मोकोल की नाव से सुरक्षित स्थान पर जाते लोग। - Dainik Bhaskar
बायसी में बाढ़ के पानी में थर्मोकोल की नाव से सुरक्षित स्थान पर जाते लोग।
  • नेपाल में लगातार बारिश का बायसी अनुमंडल की नदियों पर असर

नेपाल की तराई क्षेत्र में लगातार बारिश से बायसी प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत बहने वाली कनकई और महानंदा का जलस्तर स्थिर हो गया है। परमान और उसकी सहायक नदी में उफान है। परमान नदी के बढ़े जलस्तर से नदी के निचले इलाके ताराबाडी, चंकी, मडवागांव, मजलिसपुर, बनगामा हाटटोला, लेलुका, चहट, गोटफोर, नया टोला गोटफोर सोनापुर, चटांगी, बागडोव, मालोपाड़ा तेलंगा, डंगराह पूरबपार, भसिया,चांदपुर, दोहघरिया, नूकानी, खूटिया, पानीसदरा, हरिणतोड़, माला, खपडा, मथुरापुर, मोवैया, चकला चन्द्रगांव, रेहुआ सहित अन्य इलाके में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है। लोग सुरक्षित स्थान की तलाश में गांव से पलायन करने लगे हैं। चरैया एन से मडवा प्रधानमंत्री सड़क मे और चरैया से भसिया सड़क और कलवर्ट पुरानागंज पंचायत चरधरिया पूरी तरह डूब गया है। खपडा पंचायत के ग्वालगांव के दस हजार लोगों का आवागमन बाधित है।साथ ही बायसी अनुमंडलीय क्षेत्र में लगातार बारिश व जल निकासी नही रहने से पंचायत क्षेत्र के लगभग कई वार्डो में भी जलजमाव से आम लोग परेशान है।सबसे ज्यादा एनएच-31 पश्चिम चौक,बनगामा जाने वाली मुख्य मार्ग से आवाजाही में लोगों को परेशानी हो रही है। लोगों ने स्कूलों में डेरा डाल लिया है।

सीमलबाड़ी गराटोला का लिया जायजा सामुदायिक किचन चलाने का निर्देश

अमौर| प्रखंड क्षेत्र के ज्ञानडोव पंचायत के सीमलबाड़ी नगरा टोला के कटाव प्रभावित परिवार पैठान टोली स्कूल एवं पुल में खुले में रह रहे है। शनिवार को बायसी एसडीओ कुमारी तोसी अंचलाधिकारी शाहदुल हक व सीआई के साथ सीमलबाड़ी नगरा टोला के कटाव प्रभावित क्षेत्र का जायजा लिया। इस दौरान एसडीएम कुमारी तोसी ने पुल सहित सड़क के दोनों किनारे प्लास्टिक की शीट आदि के सहारे रह रहे कटाव प्रभावित परिवारों से मिल उनका हालचाल जाना। उन्होंने तत्काल स्वच्छ पानी पीने के लिए पीएचडी विभाग के द्वारा दो चापाकल की व्यवस्था करवाया। इस दौरान उन्होंने सामुदायिक किचन चलाने का आदेश दिया गया है। एसडीएम ने बताया कि प्रखंड मुख्यालय में अंचलाधिकारी के साथ समीक्षा कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। साथ ही प्रभावित परिवारों की सूची लेकर प्लास्टिक सीट उपलब्ध कराया जा रहा है। मुखिया मो. शहाबुद्दीन सहित जनप्रतिनिधि ने अनुमंडल पदाधिकारी के गोल मटोल जवाब से परेशान होकर डीएम से प्रभावित परिवारों को तत्काल सुखा राशन मुहैया कराने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...