पूर्णिया में कांवरियों से भरी बस का एक्सीडेंट:ड्राइवर को झपकी आने पर पुल के रेलिंग से टकराई, एक की मौत, 2 दर्जन जख्मी

पूर्णिया4 महीने पहले

पूर्णिया में मंगलवार की सुबह देवघर से वापस किशनगंज जा रहे कांवरिया से भरा बस डगरूवा थाना क्षेत्र अंतर्गत कजरा पुल पर के पास एनएच 31 पर ड्राइवर को झपकी आ जाने से पुल के रेलिंग से टकरा कर दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से बस में सवार 26 कांवरिया जख्मी हो गए हैं। बाद में अस्पताल में इलाज के दौरान शंकर लाल पंडित (40 वर्ष) की मौत हो गई। वह किशनगंज जिले के पहारकट्टा थाना क्षेत्र अंतर्गत इन्द्रपुर गांव के रहने वाले थे। घटना के बाद इलाके में अफरातफरी मच गई। बस दुर्घटना होते ही बस यात्री चीखने चिल्लाने लगे।

बस का शीशा तोड़कर निकले बाहर

बस दुर्घटनाग्रस्त होते ही यात्रियो में कोहराम मच गया। यात्रीयो ने बस के सिवा तोड़कर कर जैसे तैसे बाहर निकालकर अपनी जान बचाई। स्थानीय लोगो के मदृद से सभी को डगरूवा पीएचसी पहुंचाया गया। जहां लोबिन चंद्र पंडित, अनिल पाहन, जुमल पाहन, शंकर लाल पंडित की स्थिती काफी गंभीर होने से मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर कर दिया गया। बांकी जख्मी का इलाज पीएचसी में चल रहा है।

60 यात्री थे बस में सवार

बस यात्रियो ने बताया कि वह लोग किशनगंज जिले के पहाडकट्टा थाना क्षेत्र अंतर्गत इन्द्रपुर गांव के रहने वाले है। बस में 60 कांवरिया सवार थे। 30 कांवरिया बस के अंदर और 30 बस के छत पर बैठे थे। देवघर से किशनगंज अपने घर जा रहे थे। बस में ओवरलोड यात्री सवार थे।

ड्राइवर को आई झपकी

बस सवार यात्रियो ने बताया कि भागलपुर से निकलने के बाद ही ड्राइवर को झपकी आने लगा था। यात्रियो ने उसे रेस्ट करने के लिए कहा और उसने अनसुनी कर बस चलाने लगे। डगरूवा के कजरा पुल के पास पहुंचते ही ड्राइवर को झप्पी लग गई और बस पुल से टकरा गया। बताया जा रहा है कि ड्राइवर की लापरवाही से यह दुर्घटना हुई है। इससे पूर्व भी जलालगढ में ट्रक ड्राइवर को झप्पी आई थी जिस में 8 मजदूरो की मौत हो गई थी।

खबरें और भी हैं...