• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Purnia
  • Thousands Of Seekers Joined Ekam Event To Experience The Divine Mukti Anubhav Program Organised In Bihar

आध्यात्मिक कार्यक्रम में उमड़ी भीड़:दिव्य मुक्ति अनुभव कार्यक्रम में हजारों लोग पहुंचे, ज्ञान-ध्यान और मुक्ति पर हुई चर्चा

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिहार में प्रसिद्ध आध्यात्मिक गुरु प्रीताजी और कृष्णाजी ने मुक्ति अनुभव कार्यक्रम का आयोजन किया। इस कार्यक्रम को प्रसिद्द ज्ञान और मुक्ति केंद्र एकम के तत्वावधान में आयोजित किया गया था। जिसमें हजारों लोगों ने हिस्सा लिया। उन्होंने ज्ञान, ध्यान व मुक्ति की दीक्षा प्राप्त की। इस कार्यक्रम के दौरान बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और पटना की मेयर सीता साहू भी मौजूद रहीं और आध्यात्म को एक नए अनुभव से रूबरू हुए।

कार्यक्रम में प्रीताजी और कृष्णाजी द्वारा लिखी गई विश्वप्रसिद्द किताब ‘चार परम रहस्य’ का भी विमोचन किया गया। डेप्युटी सीएम श्री तारकिशोर प्रसाद ने किताब का विमोचन करते हुए एकम द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रमों और प्रीताजी व कृष्णा के विजन की सराहना की।

उन्होंने कहा कि आज की भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में जिस प्रकार से लोग मानसिक तनाव से गुजर रहे हैं, इस तरह के कार्यक्रम उन्हें तनाव से उबरने में बहुत मदद करेंगे। कार्यक्रम में उपस्थित पटना की मेयर श्रीमती सीता साहू ने कहा कि “प्रीताजी और कृष्णाजी के साथ इस कार्यक्रम में ध्यान के दौरान मैंने खुद को परमात्मा की शुद्ध उपस्थिति में खो दिया।”

कार्यक्रम में आये साधकों को संबोधित करते हुए श्री कृष्णाजी ने कहा कि विश्व की सभी समस्याएं चाहे वो युद्ध हो या आर्थिक शोषण, चाहे जलवायु परिवर्तन हो या मानसिक अवसाद, इन सब का समाधान तब ही हो पायेगा जब एक निश्चित समूह प्रबुद्ध हो जाएगा।

कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे लोग प्रीताजी और कृष्णाजी से ज्ञान और मुक्ति की दीक्षा लेने व ध्यान का अभ्यास करने के बाद काफी खुश और साकारात्मक ऊर्जा से भरे नजर आये।

कई लोगों ने अपने अनुभव साझा किए। कई प्रतिभागियों ने कहा कि एकम का अनुभव अवर्णनीय है। एक से जुड़ने के बाद उनका खुद का व्यक्तिगत और अनुभव अलग लगता है। वे और भी अधिक शांत महसूस कर रहे हैं। उन्होंने जीवन में साकारात्मक बदलाव लाने और ज्ञान चक्षु खोलने के लिए कृष्णाजी, प्रीताजी व सभी आयोजकों को धन्यवाद दिया।

जनजागरण के उद्देश्य से और वैश्विक स्तर पर अध्यात्मिक ज्ञान के प्रचार हेतु एकम द्वारा सत्र 2022-23 में दुनिया के सात महाद्वीपों में अपने विश्व यात्रा का संकल्प किया जा रहा हैं। पटना इस यात्रा का पहला पड़ाव था।