10 किलो गांजा के साथ पिता-पुत्र गिरफ्तार:​​​​​​​कोचस पुलिस ने शराब के खिलाफ नाकेबंदी के दौरान गांजा तस्करी के आरोप में पिता पुत्र को गिरफ्तार किया

कोचस2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोचस पुलिस ने शराब के खिलाफ नाकेबंदी के दौरान गांजा तस्करी के आरोप में पिता पुत्र को गिरफ्तार किया हे। जिनके पास से दस किलोग्राम गांजा बरामद हुआ है। यह गिरफ्तारी कोचस के वार्ड संख्या 3 में पुलिस टीम द्वारा पीछा कर के की गई। यह गिरफ्तारी शुक्रवार तीन बजे भोर में हुई। जिसके बाद पूछ ताछ में दिनारा के सोरठी निवासी टप्पू सिंह और उनके बेटे रामजीत कुमार से पूछ ताछ के दौरान पुलिस को जानकारी मिली की गांजा की यह खेप बक्सर से पहुंची थी।

जिसके लिए तस्कर ने उनसे 50 हजार रुपए की राशि लिया है। डिलिवरी देने के लिए कोचस पावार हाउस के पास बुलाया था। जिसकी भनक लगते ही वहां पहुंचे एसआई विजय कुमार राम और एएसआई रामपुकार मिश्रा ने खदेड़कर दोनों को दबोच लिया। हालांकि पुलिस को देखकर पिता-पुत्र वार्ड संख्या 3 में घुस गया पर थानाध्यक्ष की नाकेबंदी और पुलिस कर्मियों के पीछा करने के कारण उनकी एक नहीं चली। बाइक और गांजा की खेप के साथ बाप-बेटे पकड़े गए। थानाध्यक्ष अमोद कुमार ने बताया कि गिरफ्तार किए गए टप्पू सिंह और उनके बेटे रामजीत कुमार ने पुलिस को गांजा तस्करी के बारे में कई जानकारी दी है। पूछताछ में पता चला कि बक्सर के किसी गांजा तस्कर ने पिता पुत्र को तस्करी का यह खेप पावर हाउस के पास डिलिवरी दिया है।

जिसका निक नेम डॉक्टर बताया जा रहा है। बरामद हुआ गांजा पांच- पांच किलो के दो बैग में पैक है। टप्पू सिंह को उक्त गांजा तस्कर से संबंध बैद्यनाथ धाम जाने के क्रम में हुआ था। उसी क्रम में गांजा तस्करी करने के लिए दोनों ने आपस में डील की। दोनों ने पुलिस द्वारा पीछा करने के दौरान अंधेरे का लाभ उठाकर भागने का प्रयास भी किया था। इस दौरान तंग गलियों में रास्ता नहीं सूझा और पीछा कर रही पुलिस के कब्जे में आ गए।

खबरें और भी हैं...