जनता दरबार लगाया:13 मामलों में साक्ष्यों का आभाव, 18 में से पांच का किया गया निष्पादन

नासरीगंज2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
करगहर में जनता दरबार में मामलों का निष्पादन करते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
करगहर में जनता दरबार में मामलों का निष्पादन करते अधिकारी।

नसरीगंज थाना परीसर में व कछवां थाना परिसर में सीओ अमित कुमार नासरीगंज थानाध्यक्ष सुभाष कुमार, कछवां थानाध्यक्ष वीरेंद्र कुमार सिंह के नेतृत्व में जनता दरबार लगाया गया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में विभिन्न प्रकार के विवादों को दोनों थाने में अधिकारियों ने वादी प्रतिवादी की फरियादों को सुना और उसके निवारण और निष्पादन के सुझाव बताए। सीओ ने बताया कि नासरीगंज में नये पुराने मिलाकर 13 मामले आये जिसमें साक्ष्य के आभाव में एक भी मामलों का निष्पादन नहीं किया गया।

सभी को अगले सप्ताह के दरबार में निष्पादित करने को ले सभी वादी प्रतिवादी को निर्देशित किया गया है जबकि कछवां में नए पुराने मिलाकर आठ मामले थे। जिसमें पुराने सभी 5 मामलों को निष्पादित दोनों पक्षों के सहमति से किया गया और शेष बचे 3 मामलों को अगले सप्ताह निष्पादन के लिए विचाराधीन रखा गया। मौके पर राजस्व अधिकारी चन्दन कुमार,सीआई अरुण कुमार समेत आँचल कर्मी, पुलिस कर्मी,व वादी प्रतिवादी उपस्थित थे।

सूर्यपुरा और दावथ के अनुसार सूर्यपुरा और दावथ सीओ और एसएचओ ने शनिवार को थाना परिसर में लगाया जनता दरबार। दावथ सीओ नवलकांत ने बताया कि निर्धारित तिथि को थाना परिसर में एसएचओ अतवेंद्र कुमार सिंह के साथ के जनता दरबार लगाया गया। जिसमें निर्धारित समय तक कुल 8 मामले आए, जिनमें आपसी भूमि विवाद, आपसी बटवारा, भूमि मापी, भवन निर्माण संबंधित मामले जिसमें कव्ई का- 1 नगर पंचायत कोआथ -एक अकोड़ा एक- बोध चातर - एक परसिया खुर्द- एक दावतथ- एक इटवा -1 यानी कुल 8 मामले का निष्पादन कर दिया गया है।

वही सूर्यपूरा सीओ अनिल प्रसाद सिंह ने बताया कि शनिवार को निर्धारित समय से थाना परिसर में थाना अध्यक्ष सुसंत कुमार व आरओ दिव्यप्रकाश के साथ में जनता दरबार लगाकर भूमि विवाद व सम्पति बटवारे के दो मामलों का शनिवार को किया गया निपटारा। जिसमें भड़कुड़िया कला का एक ,एक सूर्यपुरा का ,जबकि एक मामला पेंडिंग रह गया जिसे अगली तिथि पर सुनवाई की जाएगी।

तीन मामलों का किया गया निपटारा
काराकाट| स्थानीय थाना परिसर में शनिवार को साप्ताहिक भूमि विवाद से संबंधित समीक्षात्मक बैठक हुई। चार मामलों में सीओ द्वारा तीन का निपटारा किया गया। सीओ अमरेश कुमार के अनुसार आज के समीक्षात्मक बैठक में प्रखंड के जमुआ, लोरीबान्ध, गोड़ारी व निरंजनपुर गांव से कुल चार मामला लाए गए थे। इसमें निरंजनपुर को छोड़ अन्य सभी मामलों को दोनों पक्षों की दलील सुनने व राजस्व कर्मचारी के प्रतिवेदन के आधार पर सुलझा लिया गया।

खबरें और भी हैं...