रोहतास में 3 वर्षीया नाबालिग से दुष्कर्म प्रयास मामला:अभियुक्त को 5 साल सश्रम कारावास की सजा, 4 साल बाद आया फैसला

सासाराम3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो।

रोहतास में 3 साल की बच्ची के साथ रेप के प्रयास के मामले में सासाराम व्यवहार न्यायालय के जिला एवं सत्र न्यायाधीश 6 अभियुक्त को 5 साल की सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। करगहर थाना क्षेत्र में घटित मामले में सुनवाई के बाद एडीजे छह सह विशेष न्यायाधीश पॉक्सो अधिनियम आशुतोष कुमार की अदालत ने मामले में दोषी पाये अभियुक्त रामाकांत पटेल निवासी, गोखुलपुर, करगहर को दस हजार रुपये अर्थदंड सहित पांच साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई। कोर्ट ने इस मामले में आरोपी को पाक्सो अधिनियम की धारा 10 में दोषी पाते हुए उक्त सजा सुनाई है।

मार्च 2018 का है मामला

मामले में अभियोजन पक्ष की अधिवक्ता विशेष लोक अभियोजक शाहिना कमर ने बताया कि उक्त घटना चार साल पूर्व 16 मार्च 2018 को दिन में ग्यारह बजे घटी थी। जब बच्ची अपने घर से निकट आंगनवाड़ी केन्द्र में पढने जा रही थी। इस क्रम में अभियुक्त ने बच्ची को ईख खिलाने का लालच देकर अपने साथ गांव के हीं पंचायत भवन में ले गया जहां उसने बच्ची के साथ उक्त घटना को अंजाम दिया। बच्ची द्वारा घटना के बारे में अपने परिजनों को जानकारी देने के बाद बच्ची की मां द्वारा स्थानीय थाना में दिये गये लिखित तहरीर के आधार पर मामले की प्राथमिकी दर्ज हुई थी। कोर्ट ने अपने आदेश में बच्ची की समुचित देखभाल हेतु दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 357 ए के तहत एक लाख रूपये मुआवजा की राशि विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव को देने का आदेश जारी किया है।

खबरें और भी हैं...