अब वकील ने लगाया आरोप, जज ने भी दी धमकी:सासाराम कोर्ट में वकील-जज में बढ़ी रार, हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से लगाई गुहार

सासाराम3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो।

जिला व्यवहार न्यायालय के अधिवक्ता अरूण कुमार सिंह ने अपर जिला जज-22 छेदी राम पर न्यायालय में अभद्र व्यवहार एवं जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है। इस बाबत अधिवक्ता ने पटना उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश एवं रोहतास के निरीक्षी न्यायाधीश एवं रोहतास जिला विधिज्ञ संघ के अध्यक्ष को आवेदन देकर अपनी सुरक्षा की गुहार लगाई है। अपने आवेदन में अधिवक्ता ने एडीजे पर अपने संचालित मामले के सूचक के मेल में रहने एवं उनके द्वारा उपलब्ध सुविधाएं देने का भी आरोप लगाया है।

अधिवक्ता ने बताया है कि बीते सोमवार को वो छेदी राम के न्यायालय में अपने वाद सत्र वाद संख्या 356/2000 में अपना पक्ष न्यायालय के समक्ष रख रहे थे, जिसमें उन्होंने मामले के मुदालय के कैंसर रोग से पीड़ित होने के कारण उनकी अनुपस्थिति के संबंध में संबंधित अस्पताल के ईलाज का दस्तावेज जमा किया था। जिसपर सुनवाई करने से एडीजे ने इंकार कर दिया एवं अधिवक्ता के साथ अभद्र व्यवहार करने लगे। मामला तब तूल पकड़ लिया, जब एडीजे आपे से बाहर होकर अधिवक्ता को जान मारने की धमकी देने लगे।

जज ने एक दिन पूर्व अधिवक्ता पर लगाया था आरोप

बता दें कि छेदी राम ने उक्त अधिवक्ता पर सोमवार को देख लेने की धमकी का आरोप लगाया था। अधिवक्ता की धमकी को लेकर जज ने सोमवार को जिला जज अरूण कुमार श्रीवास्तव से अपने एवं अपने परिवार की सुरक्षा बढाने के लिए आवेदन दिया है।

अपने आवेदन में न्यायाधीश ने लिखा है कि सत्र वाद संख्या 356/2000 में सूचक के तरफ से अधिवक्ता बहस कर रहे थे। इसी दौरान अभियुक्त के अधिवक्ता अरूण कुमार सिंह कोर्ट में आए और खुले न्यायालय में कहा कि आप बाहर निकलिए, आपको अभी बताते हैं। न्यायाधीश ने लिखा है कि अधिवक्ता का यह कृत्य सीसीटीवी फुटेज में देखा जा सकता है। न्यायाधीश ने खुद और परिवार के लिए सुरक्षा की मांग की है।

सासाराम में अधिवक्ता ने कोर्ट में जज को दी धमकी:जज ने जिला जज से लगायी सुरक्षा की गुहार, कहा- दिमागी रूप से विचलित हूं

खबरें और भी हैं...