पहल:नगर के तरह 40 ग्राम पंचायतों में भी कचरा प्रबंधन व साफ-सफाई के मापदंड होंगे लागू

सासाराम2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला पदाधिकारी धर्मेंद्र कुमार की अध्यक्षता में सात निश्चय भाग-2 योजना के तहत लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान को लेकर शुक्रवार को डीआरडीए सभागार में प्रशिक्षण सह शंका समाधान बैठक की गई। उक्त बैठक में डीडीसी शेखर आनंद, निदेशक डीआरडीए मुमताज़ आलम के अलावे प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं प्रथम चरण के सभी 40 पंचायतों के मुखिया तथा स्वच्छ भारत मिशन के ब्लॉक समन्वयक उपस्थित रहे। डीएम ने कहा कि लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के तहत जिले के 229 पंचायतों में से 60 पंचायतों का चयन किया गया है जिनमे 40 पंचायत प्रथम चरण में तथा 20 पंचायत दूसरे चरण में लिए जाएंगे। प्रत्येक चयनित पंचायत में सभी घरों को एक हरा एवं एक नीला डस्टबिन उपलब्ध कराया जाना है जो क्रमशः सूखे और गीले कचरे के लिए होंगे। साथ ही सामुदायिक उपयोग के लिए एक बड़ा डस्टबिन उपलब्ध कराया जा रहा है, जहां सामुदायिक स्तर पर कूड़े की डंपिंग होगी। सामुदायिक डंपिंग का स्थान 30/30 वर्ग फीट का होगा। सामुदायिक डंपिंग स्थल पर सूखे तथा गीले कचरे की डंपिंग पैडल वाले रिक्शा से होगी। 70% राशि स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत और 30% राशि 15 वे वित्त के माध्यम से आवंटित की गई है। डीएम ने बताया कि जिस प्रकार से नगरीय कचरा प्रबंधन और साफ-सफाई के सेट प्रोटोकॉल्स और मानदंड हैं, उसी प्रकार से अथवा उनसे भी बेहतर ढंग से ग्रामीण इलाकों में भी स्वच्छता के नए मानदंड स्थापित किए जाने हैं जिसके सफल क्रियान्वयन में, चयनित जान प्रतिनिधियों को महती भूमिका निभानी है।

खबरें और भी हैं...