रोहतास में नवजात बच्ची को छोड़ कर भागी मां:पुलिस ने चाइल्ड लाइन को सौंपा, अस्पताल में छोड़ दी थी

रोहतास4 महीने पहले

रोहतास जिले के डेहरी अनुमंडल अस्पताल में नवजात बच्ची को छोड़ उसकी मां और अन्य परिजन चले गए। डेहरी नगर थाने की पुलिस ने नवजात बच्ची को चाइल्ड लाइन को सौंप दिया। प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरुवार को डेहरी अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती प्रसूता ने बच्ची को जन्म दिया था। लेकिन आज अचानक प्रसूता और इसका परिवार बच्ची को छोउत्र कर चला गया।

इसकी सूचना अस्पताल प्रबंधक राणा राजेश ने डेहरी नगर थाने की पुलिस को दी। डेहरी थाने की पुलिस द्वारा चाइल्ड लाइन को सूचना दी गई। सूचना पर पहुंचे चाइल्ड के प्रतिनिधि को नवजात बव्वी को सौंप दिया गया। चाइल्ड लाइन की सविता डे ने बताया कि नवजात बच्ची को अभी इलाज एवं टीकाकरण के लिए सदर अस्पाताल में भर्ती कराया गया है। उसे पूरी तरह से स्वस्थ होने के बाद वहां से लाया जाएगा। वहीं सूत्र बताते है कि प्रसूता अभी अविवाहित थी, इसलिए परिजनों के दवाब में बचची को छोडत्रकर अस्पताल से चली गई।

आरपीएफ डेहरी ने घर से भटकी भोजपुर के किशोरी को किया चाइल्डलाइन के हवाले

इधर, भोजपुर से आई किशोरी को आरपीएफ ने शुक्रवार को चाइल्ड लाइन को सौंप दिया। आरपीएफ थानाध्यक्ष ने बताया कि 15 साल की किशोरी काजल कुमारी, पुत्री.विजय साव, पता.कौलोडेहरीएथाना.चौरीए जिला.भोजपुर;बिहार को लावारिस हालत में घूमते हुए डेहरी ऑन सोन रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या तीन पर पुराने ऊपरी पैदल पुल के पास पाया गया।

पूछने पर उक्त नाबालिग लड़की ने बताया कि वह घर से नाराज होकर भाग आई है, जब उससे उसके परिजनों के संपर्क नंबर की मांग की गई तो उसने किसी का भी संपर्क नंबर देने से मना किया। इसके बाद इसकी इसकी सूचना चाइल्ड लाइन तिलौथू को दी गई।

सूचना पर चाइल्ड लाइन सब सेंटर तिलौथू की महिला कार्यकर्ता अर्पिता सिंह साथ स्टाफ रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट डेहरी ऑन सोन पर उपस्थित हुए जहां संबंधित कार्यवाही उपरांत उक्त नाबालिग बच्ची को उनके परिजनों तक सही सलामत पहुंचाने हेतु चाइल्ड लाइन को सुपुर्द किया गया।

खबरें और भी हैं...