रेल एडीजी ने की समीक्षा बैठक:थानाध्यक्षों की लगी क्लास, पुलिस की गश्ती को लेकर अफसरों को दिए निर्देश

रोहतास2 महीने पहले

बिहार के सभी जिलों में होने वाली क्राइम मीटिंग में अब पुलिस मुख्यालय के अपर पुलिस महानिदेशक, एडीजी और पुलिस महानिरीक्षक, डत्रआइजी भी शामिल होंगे। इसी क्रम में बुधवार को रोहतास जिले की क्राइम मीटिंग में एडीजी रेल निर्मल कुमार आजाद शामिल हुए। बैठक में डीआईजी शाहाबाद उपेंद्र वर्मा, एसपी रोहतास आशीष भारती के के साथ तीनों अनुमंडलों के एसडीपीओ एवं सभी थानों के थानाध्यक्ष शामिल थे।

करीब चार घंटे तक चली मैराथन बैठक में एडीजे ने जिले में पुलिसिंग की बिंदुवार समीक्षा की। एडीजी ने सभी थानाध्यक्षों से उनके काम अपडेट लिया। थानों में कितनी प्राथमिकी दर्ज हुई, कितने का निष्पादन किया गया। शराब निषेघ कानून में कितने मामले दर्ज हुए, कितने निष्पादित हुए, पुलिस गश्ती की क्या स्थिति है, आदि की जानकारी ली।

इस दौरान कई थानाध्यक्षों को फटकार लगी, तो कई के काम से एडीजी ने संतोष जताया। एडीएजी ने स्पष्ट कहा कि अब थानों एवं सर्किल में नियुक्ति परफार्मेंस के आधार पर होगा। जिसका परफार्मेंस बेहतर होगा उसे ही थाना और सर्किल मिलगा।

एसपी कार्यालय पहुंचे एडीजी ने अपराध के ग्राफ पर चर्चा की। जिन इलाकों में अपराध बढ़ रहा है, उसके कारणों की पड़ताल कर समाधान निकालने का टास्क दिया गया। इसके साथ पुलिस गश्ती को और सख्ती से लागू करने को कहा गया। पुलिस गश्ती में शामिल पुलिसकर्मियों की मानीटरिंग की भी जिम्मेदारी दी गई।

वरीय अफसरों को भी नियमित रूप से क्षेत्र भ्रमण करने को कहा गया। जिले के वांछित व बड़े कांडों में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी में तेजी लाने को गया है। इसके लिए एसएसपी को विशेष तौर पर धर-पकड़ अभियान चलाने को कहा गया।