जज साहब सुना रहे थे फैसला, इधर घर में डाका:रोहतास में तिवारी-तिवारी कहते हुए घर में घुसे डकैत, फिर कट्‌टा सटाकर ले उड़े जेवर-कैश

सासाराम (रोहतास)एक महीने पहले

रोहतास में बेखौफ बदमाशों ने सिविल जज के घर को भी नहीं छोड़ा। सुबह-सुबह तीन बदमाशों ने हथियार के दम पर घर में डकैती कर ली। वारदात के वक्त अनुमंडलीय कोर्ट के बिक्रमगंज फर्स्ट क्लास जुडिशियल मजिस्ट्रेट 1 के जज महेश्वरनाथ पांडेय कोर्ट में केस की सुनवाई कर रहे थे। सुबह करीब साढ़े 9 बजे करीब उनके घर में 3 बदमाश दाखिल हुए। 50 हजार कैश और गहने लेकर भाग निकले। वारदात के बाद पत्नी ने फोन पर जज को जानकारी दी।

जज ने बताया कि 3 लोग घर पर आए थे। वो भूपेंद्र तिवारी के बारे पूछ रहे थे। जज की पत्नी ने कहा कि साहब कोर्ट में हैं और भूपेंद्र तिवारी नहीं आए हैं। जज ने बताया कि भूपेंद्र तिवारी उनके रिश्तेदार हैं, जिनका नाम ले रहे थे। फिर उन सबने पानी मांगा। पत्नी पानी लाने गई तब तक वे सभी घर में घुस गए। इसके बाद कट्टा अड़ाकर कर लूटपाट करने लगे। घर में रखे 50 हजार नकद, गहने और समान ले गए। जज की पत्नी और उनकी बेटी लाडो के साथ मारपीट भी की।

लूट की वारदात की जानकारी देते जज महेश्वरनाथ पांडेय।
लूट की वारदात की जानकारी देते जज महेश्वरनाथ पांडेय।

होमगार्ड की है सुरक्षा

जज ने बताया कि जज आवास की सुरक्षा होम गार्ड जवानों के भरोसे है। 5 होमगार्ड जवान के भरोसे सुरक्षा है, वे भी अंचल के कार्यलय में रहते हैं। उन्होंने कहा कि कई बार प्रशासन से सुरक्षा की मांग की गई, लेकिन प्रशासन ने उपलब्ध नहीं कराई। बताया कि एक जनवरी को तीन संदिग्ध लोग आए थे, जिसकी प्रशासन को सूचना दी गई थी, पर प्रशासन ने सुरक्षा की व्यवस्था नहीं की। जज ने बताया कि घटना कि जानकारी देने के 15 मिनट बाद पुलिस पहुंची। केस दर्ज कराया गया है।

जज की पत्नी गूंजा देवी ने बताया, 'तीनों लुटेरों की उम्र 20 से 25 वर्ष के बीच में हैं। तीनों की दाढ़ी एवं बाल बढ़े हुए हैं। घटना के समय तीन लोग थे, मां-बेटी के अलावा काम वाली की बच्ची थी। बदमाशों को पहले कभी नहीं देखा था।' घटना के बाद रोहतास SP आशीष भारती भी मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी ली।

खबरें और भी हैं...