सासाराम में जिंदा जलाई गयी युवती की हुई मौत:दो दिन पहले जीटी रोड पर लगी थी आग, 90 फीसदी जल चुकी थी

रोहतास5 महीने पहले

रोहतास जिला मुख्यालय सासाराम के मुफ्फसिल थाना क्षेत्र में जलाई गई युवती की शनिवार को मौत हो गई। घटना के दो दिन बाद भी युवति की पहचान नही हो पाई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। दो दिन पूर्व 5 अप्रैल को मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के पास मंडल कारा के पास आग की लपटों से घिरी युवती पुरानी जीटी रोड़ पर पहुंची व बीच सड़क पर बचाने की गुहार लगा रही थी।

किसी को कुछ समझ में नहीं आ रहा था। कुछ देर बाद स्थानीय लोगों ने युवती के शरीर पर कंबल डाल आग को बुझाया और पुलिस को घटना की सूचना दी थी। आग से झुलसी युवती को सदर अस्पताल लाया गया था। जहां इलाज के दौरान युवति ने आज दम तोड़ दिया। ना उसकी पहचान हो सकी ना ही पुलिस कोई बयान ले सकी, इसलिए मौत के बाद भी मामला पहेली बना हुआ है। युवति कहां कि रहने वाली थी, उसके शरीर के आग किसने लगाई और वह घटना स्थल पर कैसे आई, किसी बात का खुलासा नहीं हो सका है।

मौत के बाद शव को पोस्टमार्टम हाउस लाया गया है। मुफ्फसिल थाना प्रभारी राकेश कुमार ने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद 72 घंटे तक शव को पहचान के लिए रखा जाएगा। बताया कि पुलिस घटना स्थल पर पहुंच मामले की जांच कर रही है, आस-पास के सीसीटीवी को भी खंगाला जाएगा। सभी थानों को इस संबंध में सूचना दी गई है।

सदर अस्पताल के चिकित्सक ने कहा कि महिला गंभीर स्थिति में सदर अस्पताल लाई गई थी, वह 90 फीसदी जल चुकी थी। उसे बचाया नहीं जा सका। शव के वहचान के लिए 72 घंटे तक मर्चरी हाउस में रखा गया है।