सहरसा में रेलवे स्टेशन के लिफ्ट में फंसा यात्री:कड़ी मशक्कत के बाद निकाला गया, बाल-बाल बची जिंदगी

सहरसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सहरसा में अगर आप भी रेलयात्रा पर है। वही यात्रा के दौरान रेलवे स्टेशन पर लिफ्ट का प्रयोग करने की सोच रहे है। तो थोड़ा संभल कर उसका उपयोग करें। ऐसा नहीं किए जाने पर आप कभी मुसीबत में भी फंस सकते है। जिसमें फंस कर आपकी ट्रेन भी छूट सकती है। साथ ही लिफ्ट में देर तक फंसे रहने से आपको अन्य कई समस्या भी हो सकती है।

ऐसा ही वाक्या शनिवार को संध्या में दिखा स्थानीय रेलवे स्टेशन पर। जहां दो रेल यात्री सीढ़ी के बदले लिफ्ट में चढ़ कर प्लेटफार्म बदलना चाहता था। लेकिन वे जैसे ही लिफ्ट में दाखिल हुए। वैसे ही लिफ्ट बंद हो गया। जिससे वे लोग लिफ्ट में ही फंस गए। जिसके बाद उन्होंने किसी तरह मोबाइल से अन्य लोगों और रेलवे को जानकारी उपलब्ध करवाया। फिर रेलवे द्वारा माइक से उदघोषणा कर रेल कर्मी को लिफ्ट ठीक करने की अपील की गई।

इसके बाद उक्त विभाग के इंजीनियरिंग मौके पर पहुंचे। जिनके द्वारा लिफ्ट से फंसे यात्री को बाहर निकाला गया। लेकिन इस पूरी प्रक्रिया में 20-25 मिनट का समय लग गया। जिससे जहां लिफ्ट में फंसे यात्री परेशान रहे। वही किसी अनहोनी की आशंका से लिफ्ट के बाहर भी लोग चिंतित रहे। हालांकि अंत में सब कुछ दुरुस्त रहा। जिसके बाद जहां रेलकर्मियों ने जहां राहत की सांस लिया। वही लोगों के भी जान में जान आई।

लिफ्ट में फंसे रेलयात्री विजय शर्मा और अजय कुमार ने बताया कि रेल प्रशासन की लापारवाही और प्लेटफार्म पर लगाए गए लिफ्ट के सही रखरखाव नहीं होने के कारण वे लोग लिफ्ट में फंस गए थे। उन्हें काफी घबराहट हो रही थी। लोगों ने बताया कि यहां का लिफ्ट यदा कदा फंस जा रहे है।

वही कुछ लोगों ने बताया कि प्लेटफार्म होकर निकलने वाले स्कूली बच्चो द्वारा लिफ्ट में खूब धमा चौकड़ी मचाई जाती है। जिससे लिफ्ट में गंदगी भी फैली रहती है।लिफ्ट की निगरानी तथा सही रखरखाव होनी चाहिए। आज उनकी जान भी जा सकती थी।