पुल निर्माण की मांग:बेलाही में पुल निर्माण को लेकर ग्रामीणों ने सांसद का किया घेराव, दिया आश्वासन

सलखुआएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ग्रामीणों ने सांसद का किया घेराव। - Dainik Bhaskar
ग्रामीणों ने सांसद का किया घेराव।
  • पिछले साल बाढ़ अवधि के दौरान पुल व सड़क हो गया ध्वस्त, लोग परेशान

प्रखंड के पूर्वी कोसी तटबंध के भीतर दियारा क्षेत्र के बेलाही गांव के समीप ग्रामीणों ने पुल निर्माण की मांग को लेकर सांसद का घेराव किया। कबीरा-चिरैया मुख्य मार्ग के बेलाही गांव के समीप बने पुल पिछले वर्ष आई बाढ़ से ध्वस्त हो जाने के उपरांत सड़क निर्माण के संवेदक ने पुल के स्थान पर मिट्टी डालकर जाम कर दिया है। जिससे ग्रामीणों में आक्रोश देखा जा रहा है। दर्जनों महिला पुरुष ग्रामीणों ने बेलाही गांव के समीप खगड़िया सांसद चौधरी महबूब अली केसर का घेराव कर पुल निर्माण की मांग की। ग्रामीणों ने बताया की वर्ष 2021 में आई बाढ़ से चिरैया-कबीरा मुख्य मार्ग के बेलाही गांव के समीप पुल व सड़क ध्वस्त हो गया था, ध्वस्त सड़क व पुल के स्थान पर संवेदक द्वारा मिट्टी डालकर जाम कर दिया गया है। जिस कारण बाढ़ आने पर पुल के अभाव से पुनः सड़क ध्वस्त हो जाएगा और ग्रामीणों को आवाजाही मुश्किल हो जाएगा। सांसद ने ग्रामीणों को पुल निर्माण कराने का ग्रामीणों को आश्वासन दिया गया। ज्ञात हो की शुक्रवार को खगड़िया सांसद चौधरी महबूब अली कैसर एवं सिमरी बख्तियारपुर राजद विधायक युसूफ सलाउद्दीन के संयुक्त रूप से हो रहे विभिन्न योजनाओं के शिलान्यास व उद्घाटन के बीच आपस में ही दो कार्यकर्ता भीड़ गए। जिससे वहां के माहौल ही पूरी तरह से बदल गई। चानन पंचायत के पैक्स अध्यक्ष अमोली महतो के दरवाजे पर दो कार्यकर्ताओं के बीच आपस में ही भीड़ गए। अन्य कार्यकर्ताओं के पहल पर दोनों को समझा बुझाकर शांत कराया गया। वहीं, डेंगराही कोसी नदी घाट से चिरैया एवं खगड़िया जिले को जोड़ने वाली मार्ग में पहले से बनाए गए आरसीसी पुल पिछले वर्ष नवम्बर माह में आई बाढ़ की चपेट में आने से ध्वस्त हो गया।

विधायक का घेराव कर पुल निर्माण की मांग की
उक्त स्थान पर पुनः आरसीसी पुल निर्माण करने की नींव रखी गई थी लेकिन संवेदक के लापरवाही और मनमाने ढंग से वहां पर मिटटी भराई कर छोड़ दिया गया। जिससे आक्रोशित ग्रामीणों ने सड़क के उद्घाटन करने पहुंचे सांसद और विधायक का घेराव कर पुल निर्माण की मांग की। ग्रामीणों ने सांसद को बाढ़ से अवगत कराते हुए कहा कि अगर उक्त स्थल पर पुल का निर्माण नहीं होता है तो बाढ़ के समय में पानी का निकासी नहीं होगा। जिससे आस-पास के गांव एक्जक्यूटिव बाढ़ के पानी में ही डूब जायेगा। इसलिए उक्त स्थल पर पुल का निर्माण होना अति आवश्यक है। सांसद ने ग्रामीणों को आश्वासन देते हुए कहा कि जल्द ही उक्त स्थल पर पुल का निर्माण होगा। चिरैया पहुंचे सड़कों की उद्घाटन करने के बाद स्थानीय लोगों द्वारा सड़क की दयनीय स्थिति से अवगत कराते हुए संवेदक के विरूद्ध ठोस कदम उठाने की मांग किया। ग्रामीणों ने बताया कि सड़कों की बदतर स्थिति रहने के कारण बाढ़ और बरसात के समय में आम जनजीवन काफी प्रभावित रहती है।संवेदक के मनमाने ढंग से सड़क निर्माण का विरोध करते हुए तत्काल योजनाओं की राशि पर रोक लगाने की मांग किया। सांसद द्वारा योजनाओं को चिन्हित कर एक्जीक्यूटिव इंजीनियर को तत्काल जांच करने का निर्देश दिया।वही इस मौके ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी।

खबरें और भी हैं...