दहशत:पागल कुत्ते ने छात्रा समेत एक दर्जन लोगों को काटा, भर्ती

समस्तीपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
घायल छात्रा का इलाज करते पीएचसी प्रभारी। - Dainik Bhaskar
घायल छात्रा का इलाज करते पीएचसी प्रभारी।

प्रखंड मुख्यालय चौक से सटे वारिसनगर मनियारपुर बाजार व विद्यालय कैम्पस से लेकर बाहर तक एक पागल कुत्ता घूम-घूम कर शनिवार को करीब एक दर्जन लोगों को काट कर घायल कर दिया। इससे लोगों मे दहशत का माहौल उत्पन्न हो गया। जख्मी की पहचान मनियारपुर गांव निवासी रंजीत महतो का 3 वर्षीय पुत्र अमन कुमार,मोहम्मद अली की 12 वर्षीय पुत्री साहिस्ता अंजुम उर्फ आफरीद परवीन, विनोद राय का 21 वर्षीय पुत्र विक्की कुमार, सुरेंद्र भंडारी का 9 वर्षीय पुत्री शशिमाला कुमारी, संतोष साहनी की 3 वर्षीय पुत्री रूपम कुमारी, दामोदर भंडारी का 38 वर्षीय पुत्र राजू भंडारी, गोवर्धन पासवान की 40 वर्षीय पत्नी अनीता देवी, अशर्फीलाल का 22 वर्षीय पुत्र अनिल कुमार, सुधीर महतो की 12 वर्षीय पुत्री अंजली कुमारी, रोहुआ लोहसारी निवासी अर्जुन मांझी की 30 वर्षीय पत्नी रूबी देवी, बंकापुर निवासी जयराम पंडित का 14 वर्षीय पुत्र अजीत कुमार को कुत्ता काट कर घायल कर दिया है। सभी लोगों को इलाज के लिए पीएचसी लाया गया।

ओपीडी में कार्यरत पीएचसी प्रभारी डॉ रामचंद्र महतो ने बताया कि 11 लोगों को कुत्ता काटा हुआ मरीज आया था। उसका इलाज किया जा रहा है। शिक्षिका ने बताया कि उमवि वारिसनगर बाजार मे कोरोना वैक्सीन टीका कैम्प का आयोजन किया गया था। टीका लेने के लिए वर्ग सात की छात्रा साहीस्ता अंजुम घर से आधार कार्ड लेकर आ रही थी। वहीं वर्ग छ: की छात्रा अंजली कुमारी आधार कार्ड लाने घर जा रही थी। विद्यालय की रसोईया पिंकी देवी की पुत्री रूपम कुमारी खेल रही थी। इसी बीच विद्यालय कैम्पस में कुत्ता ने काट लिया। लोगों द्वारा खदेङने पर कुत्ता भागा। तबतक दर्जन भर लोगों को अलग- अलग जगहों पर काटकर जख्मी कर दिया था। इलाज कर रहे पीएचसी प्रभारी ने बताया कि कुत्ता काटे हुए व्यक्ति अपना इलाज कराने पीएचसी आए थे उन्हें फर्स्ट डोज का सुई दिया गया है ।

डॉक्टर ने बताया कि कुत्ता काटने के बाद उस जगह को लाइफवाॅय साबुन से जरूर धो ले व इसके बाद पीएचसी आकर टीका जरूर लगवा लें। उन्होंने बताया कि कुत्ता काटने वाले व्यक्ति को पांच टीका लगाया जाना अनिवार्य है। फर्स्ट डोज पहला दिन, दूसरा डोज तीसरा दिन, तीसरा डोज 14 वां दिन, चौथा डोज 21 वां दिन व अंतिम डोज 28 वां दिन दिया जाता है । कुत्ता काटने के बाद लोग घबराए नहीं पीएचसी आकर अनिवार्य रूप से अपना इलाज करा लें। पीएचसी में सुई उपलब्ध है। इधर लोगों मे भय व्याप्त है।

खबरें और भी हैं...