अभियान:जिले में रद्द किए जाएंगे 23809 राशन कार्ड, फर्जी कार्डधरारियों के खिलाफ शुरू किया गया अभियान

छपराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रेस वार्ता कतरे राज्य खाद्य आयोग के चेयरमैन विद्यानंद विकल व अन्य। - Dainik Bhaskar
प्रेस वार्ता कतरे राज्य खाद्य आयोग के चेयरमैन विद्यानंद विकल व अन्य।
  • राज्य खाद्य आयोग के चेयरमैन ने की प्रेस वार्ता, कहा- चार-पांच मानकों को किया गया है तय

सारण जिले में लगभग 23000 अयोग्य राशन कार्ड धारियों के कार्ड को रद्द करने के लिए अभियान शुरू कर दिया गया है. शुक्रवार को छपरा में बिहार राज्य खाद्य आयोग के चेयरमैन विद्यानंद विकल ने प्रेस वार्ता के दौरान यह बात कही। उन्होंने कहा कि जो लोग भी अवैध रूप से राशन कार्ड बनवा कर राशन उठाने का कार्य कर रहे हैं उनका कार्ड रद्द करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। पूरे सारण जिले में ऐसे 23809 राशन कार्ड धारियों को चिन्हित कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि इसके लिए 4 से 5 मानक तय किए गए हैं। जिसमें कार्डधारी की मृत्यु के बाद भी राशन का उठाव, सरकारी नौकरी करने वाले लोगों के साथ साथ जो लोग आयकर रिटर्न भरते हैं उनका कार्ड रद्द किया जाएगा।

जिले में 5.6 लाख हैं कार्डधारी, 85% की हुई आधार सीडिंग
उन्होंने बताया कि बिहार में पोषण व पोषाहार से संबंधित योजनाओं को लेकर आज सारण जिले में अधिकारियों के साथ बैठक की गई है। जिसमें विभिन्न योजनाओं का मूल्यांकन के साथ-साथ योजनाओं को लागू को तक पहुंचाने के लिए उचित कदम उठाने के लिए समीक्षा बैठक की गई है। उन्होंने कहा कि राज्य में जन वितरण प्रणाली के तहत राशन कार्ड वितरण ऑनलाइन किया गया है। साथ ही साथ बायोमेट्रिक के जरिए पारदर्शिता रखते हुए राशन का वितरण किया जा रहा है। जिले में 5.6 लाख राशन कार्ड बनाए गए हैं। जिसमें साल 2020 से 2022 के दौरान 22518 नए राशन कार्ड बने हैं। इन सभी राशन कार्ड में 85% आधार सेटिंग का कार्य कर दिया गया है।

खबरें और भी हैं...