ह्यूमन ट्रैफिकिंग मामले में लड़का और लड़की बरामद:क्राइम ब्रांच दिल्ली के निर्देश पर हुई कार्रवाई, छपरा जंक्शन पर ट्रेन से हुई बरामदगी

छपरा3 महीने पहले

ह्यूमन ट्रैफिकिंग के मामले में दिल्ली क्राइम ब्रांच के निर्देश पर छपरा रेलवे चाइल्ड लाइन ने छपरा जंक्शन पर सरयु-जमुना एक्सप्रेस ट्रेन से एक लड़का और एक लड़की को बरामद किया है। दोनों को रेलवे चाइल्ड लाइन, राजकीय रेल पुलिस एवं आरपीएफ के संयुक्त प्रयास से बरामद किया गया है। गिरफ्तार लड़का दरभंगा जिले के मोरे बसुआरा थाना क्षेत्र के शाहपुर पटोरी गांव निवासी नंद कुमार ठाकुर का पुत्र विनोद ठाकुर बताया गया है। वहीं, लड़की मध्य प्रदेश के नेवाड़ी जिला अंतर्गत बपरौली थाना क्षेत्र के पुछीकरगुआ गांव निवासी मेहखान प्रजापति की पुत्री साठी प्रजापति बताई गई है।

दोनों को किया गया बरामद

लड़का और लड़की दोनों का परिवार दिल्ली के टोटापुर में एक ही मोहल्ले में रहते हैं। जहां दोनों की पहचान हुई थी और 7 मई को साठी अचानक गायब हो गई। वहीं मोहल्ले से विनोद ठाकुर भी लापता पाया गया। जिसके बाद मोहल्ले में पूछताछ के बाद लड़की के पिता के द्वारा दिल्ली क्राइम ब्रांच में एक प्राथमिकी दर्ज कराई गई। जिसमें उनके द्वारा बताया गया कि उनकी पुत्री को विनोद ठाकुर बहला फुसला कर उसे बेचने के लिए ले गया है।

इस सूचना के बाद दिल्ली क्राइम ब्रांच ने ह्यूमन ट्रैफिकिंग के लिए कार्य करने वाली संस्था मिशन मुक्ति फाउंडेशन के डायरेक्टर वीरेंद्र कुमार सिंह को लड़की लड़का के फोटोग्राफ के साथ सूचित किया। जांच के दौरान पाया गया कि दोनों दिल्ली रेलवे स्टेशन से अमृतसर होते हुए हिमाचल पहुंचे हैं। इस सूचना के बाद दोनों टीमों ने हिमाचल में उसकी खोजबीन शुरू कर दी। इसी क्रम में दोनो के मोबाइल लोकेशन के आधार पर पाया गया कि दोनों वहां से भी सरयु-जमुना एक्सप्रेस ट्रेन पकड़ कर निकल गए हैं।

इसके बाद क्रमश: बाराबंकी, अयोध्या, अयोध्या कैंट सहित अनेक रेलवे स्टेशन पर पुलिस को अलर्ट कर दिया गया। लेकिन दोनों सभी पुलिसकर्मियों को चकमा देते हुए छपरा तक पहुंच गये। वहीं मिशन मुक्ति फाउंडेशन के द्वारा इस बात की सूचना छपरा रेलवे चाइल्डलाइन के कोऑर्डिनेटर घनश्याम कुमार को दी गई।