प्रदर्शन:जेपी विवि के स्नातक पार्ट वन के 25 हजार से अधिक छात्र-छात्राओं काे फेल को पास और पास को फेल किया, प्रदर्शन

छपरा2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कुलपति ने 2 दिनों में मार्कशीट त्रुटि सुधारने का दिया निर्देश, छात्रों ने 7 सूत्री मांगों को कुलपति के समक्ष रखा था

जेपी विवि ने इस बार स्नातक पार्ट वन के स्पेशल एग्जाम के का रिजल्ट कमाल का दिया है। कुल 50 हजार छात्र-छात्राओं का रिजल्ट हुआ। इसमें 25 हजार से अधिक का रिजल्ट गड़बड जारी किया गया। पास को फेल और फेल को पास कर दिया गया है। यह वेबसाइट पर जारी किया गया था। छात्रों के विरोध के बाद वेबसाइट से रिजल्ट को हटा लिया गया है। सुधार काम भी लंबित है। इस बावत छात्रों में आक्रेाश है। शनिवार को कैंपस में हंगामा व प्रदर्शन किया।एसएफआई के सारण जिला कमेटी के तत्वाधान में शनिवार को छात्रों ने जेपी विश्वविद्यालय के कुलपति के खिलाफ आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन किया। नाराज छात्र कुलपति प्रोफेसर फारूक अली पर वादाखिलाफी का आरोप लगा रहे थे।

प्रदर्शनकारी छात्रों का कहना था कि बिते 30 अप्रैल को एसएफआई सारण जिला कमेटी ने विश्वविद्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया एवं अपनी 7 सूत्री मांगों को कुलपति के समक्ष रखा था। कुलपति ने प्रतिनिधिमंडल से वार्ता के दौरान 15 दिनों का समय लिया था लेकिन 15 दिनों के अंदर मांगों पर सकारात्मक पहल नहीं की गई। इसलिए छात्रों को दोबारा आंदोलन के रास्ते पर उतरना पड़ रहा है। इसको लेकर शनिवार को छात्रों का जुलूस विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार से निकलकर विश्वविद्यालय प्रशासन के विरुद्ध नारे लगाते हुए प्रशासनिक भवन के मुख्य गेट पर पहुंचा जहां लगभग 1 घंटे तक जमकर नारेबाजी एवं प्रदर्शन किया तथा विश्वविद्यालय के भ्रष्ट पदाधिकारियों के खिलाफ भी नारेबाजी की गई।

कुलपति ने सुधार का दिया आश्वासन
बाद में 5 सदस्य प्रतिनिधिमंडल ने राज्य अध्यक्ष शैलेंद्र यादव के नेतृत्व में कुलपति से मिला एवं कुलपति से मिलकर अपनी मांगों को रखा। जिसपर कुलपति ने जवाब देते हुए आश्वस्त किया कि मार्क्स शीट में सुधार कर भेजा जा रहा है। लेकिन कुछ नीतिगत कठिनाइयों के वजह से अभी तक कुछ मांगों पर हम पहल कदमी नहीं कर पाए हैं।

मौके पर ये मौजूद थे
प्रदर्शन में मुख्य रूप से नेहरू कुमार, अरविंद कुमार ,करण कुमार ,मनीष कुमार, सतीश कुमार, प्रदीप कुमार, विशाल पांडे, अंकिता कुमारी, लक्ष्मी कुमारी ,जूही कुमारी ,अंजली कुमारी ,नीतीश कुमार आदि ने सम्बोधित किया।

छात्रों का आरोप-मार्कशीट में जानबूझकर के गड़बड़ी पैदा की गई है
प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए एसएफआई के राज्य अध्यक्ष शैलेंद्र कुमार यादव ने कहा कि विवि छात्रों के भविष्य को बर्बाद करने का विश्वविद्यालय बनकर रह गया है ।यहां रिजल्ट एवं मार्कशीट में जानबूझकर के गड़बड़ी पैदा कर छात्रों के आर्थिक और मानसिक शोषण किया जाता हैं। विवि के अंदर छात्रों के मूलभूत सुविधाओं का घोर अभाव है यहां यहां छात्रों के बैठने के लिए ना तो कोई वेटिंग हॉल है ना ही इतनी भीषण गर्मी में उन्हें प्यास बुझाने के लिए कहीं प्याऊ की व्यवस्था है। जब तक छात्रों के मूलभूत सुविधाओं की उपलब्धता एवं मार्कशीट में हुए बड़े पैमाने पर पॉटी को सुधार कर कॉलेजों में नहीं भेजा जाता है तब तक ऐसे भाई आंदोलनरत रहेगी।

खबरें और भी हैं...