पूजा के बाद पी शराब...उल्टियां होने लगी तो मचा कोहराम:छपरा में जहरीली शराब से 11 की मौत, 35 की हालत गंभीर

छपरा2 महीने पहले

छपरा के एक गांव में पूजा के बाद लोगों ने छककर देशी शराब पी। पीने के बाद जब घर गए तो उन्हें उल्टियां होने लगी। आंख से कम दिखने लगा। एक के बाद एक शराब पीने वालों की तबीयत खराब हुई और पूरे गांव में कोहराम मच गया। अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है।

बुधवार रात से शुरू हुआ मौत का सिलसिला शुक्रवार को जारी रहा। तीन दिन में 11 लोगों के अलावा 35 लोगों की हालत गंभीर है। वहीं 15 लोग अपनी आंखों की रौशनी खो चुके हैं। सभी मृतक मकेर थाना क्षेत्र के फुलवरिया पंचायत स्थित भाथा नोनिया टोली के हैं।

पोल में हिस्सा लेकर जहरीली शराब के कहर पर अपनी राय जरूर दें...

11 में से 9 की मौत पटना मेडिकल कॉलेज के अस्पताल में हुई है, जबकि 2 की मौत छपरा में हुई है। मृतक के परिवार वाले चीख-चीखकर कह रहे हैं कि शराब पीने से उनकी मौत हुई है। अस्पताल में भर्ती लोगों ने शराब से यह हालत होने की बात कह रहे हैं। पुलिस गांव पहुंचकर मामले कि जांच में जुट गई है।

15 लोगों की आंख की रोशनी छीनी
जहरीली शराब ने 15 लोगों की आंखों की रोशनी छीन ली है। जहरीली शराब पीने से मौत के बाद ग्रामीण सहित प्रशासनिक महकमा में हड़कंप मच गया है। घटना के बाद भाथा गांव में जिलाधिकारी राजेश मीणा और पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार पहुंच एक-एक बिन्दुओं पर गहराई से जांच कर रहे हैं।

परिजन और इलाजरत लोगों ने बताया कि घटना जहरीली शराब के सेवन से हुआ।
परिजन और इलाजरत लोगों ने बताया कि घटना जहरीली शराब के सेवन से हुआ।

एक ही गांव के सभी
घटना के संबंध में बताया जा रहा कि मकेर थाना क्षेत्र के भाथा नोनिया टोली के दर्जनों लोगों ने एक साथ बुधवार रात और गुरुवार सुबह देशी शराब पी थी। सभी लोगों की तबीयत बिगड़ गई। स्वास्थ्य विभाग कैंप लगाकर गांव के लोगों काे इलाज किया। गंभीर हालत वाले मरीजों को इलाज छपरा सदर अस्पताल, पटना मेडिकल कॉलेज (पीएमसीएच) और निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान 11 लोगों की मौत हो गई।

पूजा के बाद शराब पी, घर लौटने पर उल्टियां होने लगी
अस्पताल में पीड़ितों ने बताया कि गांव में पूजा थी। पूजा के बाद देसी शराब मंगाई थी। ग्रामीणों के अनुसार, यह शराब प्रसाद के रूप में देवी को चढ़ाई गई थी। इसके बाद लोगों ने इसे पी थी। जिन 15 लोगों की आंख की रोशनी गई है वे चीख-चीखकर बोल रहे है कि हमें नहीं पता था कि जहरीली शराब पी रहे हैं। हर रोज पीते थे। मगर बीमार नहीं पड़े थे। पीने के बाद घर जाने के बाद उल्टियां होने लगी और आंख से कम दिखने लगा। सारण के डीएम और एसपी ने कहा-प्रथमदृष्टया स्पष्ट हो रहा है कि जहरीली शराब पीने से मौत हुई है।

इन 11 लोगों की हुई मौत

  • चन्दन महतो (28)
  • कमल महतो (45)
  • ओमनाथ महतो (28)
  • चंदेश्वर महतो (60)
  • राजनाथ महतो (45)
  • शकलदीप महतो (50)
  • धनिलाल महतो (55)
  • चंदेश्वर महतो (60)
  • विश्वनाथ महतो (65)
  • लखन महतो (45 वर्ष)
  • कामेश्वर महतो (40 वर्ष)

पूजा में चढ़ाई शराब, प्रसाद के बहाने लोगों ने पी