छपरा का वैन चालक बना करोड़पति:Dream-11 में जीते दो करोड़ रुपए, शिखर धवन और रबाडा को बनाया था कप्तान और उपकप्तान

छपरा10 दिन पहले

कहते हैं भगवान देता है तो छप्पर फाड़ कर देता है। यह कहावत छपरा जिले के एक पिकअप वैन चालक पर पूरी तरह चरितार्थ हो गई है। उसके पिता भले ही मजदूरी करते रहे, लेकिन वह पिकअप वैन चलाने के साथ-साथ आईपीएल मैचों में रुचि रखता था और खाली समय में Dream-11 पर टीम बनाया करता था, लेकिन उसे भी यह पता नहीं था कि उसकी किस्मत इतनी जल्दी बदल जाएगी।

देश में आईपीएल का आगाज 26 मार्च से शुरू हुआ और यह सीजन उसके लिए लकी साबित हुआ। सारण जिले के अमनौर प्रखंड के रसूलपुर गांव के एक मजदूर का लड़का Dream-11 में रातों रात करोड़पति बन गया। उक्त युवक अमनौर थाना क्षेत्र के रसूलपुर निवासी जगदीश महतो का पुत्र रमेश कुमार बताया जाता है।

बंगाल में रहकर चलाता था वैन

युवक बंगाल में रहकर पिकअप वैन चलाता था। बीते मंगलवार को उस युवक ने तीन टीम पर दाव लगाया था। टीम में रबाडा को कैप्टन व उप कप्तान शिखर धवन को चुना था। आईपीएल में रबाडा ने तीन विकेट लिया तथा अन्य चुने गए खिलाड़ियों का बेहतर प्रदर्शन रहा। जिससे उसका देश भर में सबसे अच्छा अंक प्राप्त हुआ। जिसके बाद वह युवक रातों रात दो करोड़ रुपया जीत गया। दो करोड़ रुपया जीतने का मैसेज जैसे ही उसको प्राप्त हुआ। पहले तो उसे विश्वास नहीं हुआ लेकिन जब नेट बैंकिंग से खाता का जांच कर देखा तो इनकम टैक्स का ₹60 लाख काटकर एक करोड़ चालीस लाख रुपया खाता में देख पूरा परिवार फूले नहीं समा रहा था। रमेश ने बताया कि उसे यकीन ही नहीं हो रहा था कि उसके साथ ईश्वर ने कुबेर के भंडार कैसे खोल दिया। उसने कहा कि इस पैसे को बाल बच्चों के परवरिश व समाज सेवा में लगाऊंगा।

जीतने के बाद वह युवक परिवार सहित गांव से गायब हो गया
Dream-11 में एक करोड़ 40 लाख रुपए जीतने की खबर के बाद उस युवक को खोजने वालों की भीड़ लग गई। जिसके बाद उसने अपना मोबाइल स्विच ऑफ कर लिया तो देखते ही देखते लोग उसके घर तक पहुंचने लगे। जिसके बाद वह युवक घर छोड़कर गायब हुआ और रात होते-होते पूरे परिवार सहित बाहर चला गया। वहीं इस घटना के बाद जहां पूरे गांव में चर्चा का विषय बना हुआ है। वही कोई भी कुछ बताने से परहेज कर रहा है।