अनियंत्रित ट्रैक्टर ने दरवाजे पर सोए 4 लोगों को रौंदा:दुर्घटना में दो साल के मासूम की मौत, तीन की हालत गंभीर; नशे में धुत था चालक

छपरा4 महीने पहले

बिहार के सारण जिले के भेल्दी में देर रात दरवाजे पर सो रहे लोगों को अनियंत्रित ट्रैक्टर ने रौंद दिया। इसमें एक लड़के की मौत हो गई, जबकि एक महिला गंभीर रूप से घायल हो गई। मृत बच्चे की पहचान जितेंद्र गिरी के दो वर्षीय पुत्र लड्डू कुमार के रूप में हुई। घटना बुधबार की देर रात की है। हादसे के बाद भेल्दी में चीख पुकार मच गई। अनियंत्रित ट्रैक्टर चालक नशे में था। देर रात ट्रैक्टर की जोरदार टक्कर से घर की दीवार सहित ट्रैक्टर के परखच्चे उड़ गए।

घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि जितेंद्र तिवारी अपने परिवार वालों के साथ दरवाजे पर सोने की तैयारी कर रहे थे। देर रात गर्मी के कारण सभी सदस्य दरवाजे पर बैठकर बात ही कर रहे थे। तभी अनियंत्रित ट्रैक्टर घर के बाहर बैठे और सोए लोगों को रौंदते हुए दीवार से टकरा गया। ट्रैक्टर भेल्दी बाजार की तरफ से आ रहा था। इस दुर्घटना में तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए जबकि 2 वर्षीय बच्चे की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

बच्चे की मां विनिता देवी भी गंभीर रूप से घायल हो गई। दुर्घटना के बाद आसपास के लोगों का जमावड़ा लग गया। ट्रैक्टर चालक के नशे में होने के कारण दुर्घटना हुई है। भीड़ ने ट्रैक्टर चालक को पकड़ पुलिस के हवाले कर दिया। दुर्घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने देर रात छपरा-मुजफ्फरपुर मुख्य मार्ग एनएच- 722 को जाम कर दिया। घटनास्थल पर पहुंचे थानाध्यक्ष और जन प्रतिनिधियों की पहल पर जाम हटाया गया।