शेखपुरा में शराब तस्कर को 10 साल की सजा:सिविल कोर्ट ने सुनाया फैसला, 6 लाख रुपए का भी लगाया जुर्माना

शेखपुराएक महीने पहले

शेखपुरा में शराब तस्कर को 10 साल की सजा सुनाई गई है। दरअसल सिविल कोर्ट शेखपुरा में विशेष न्यायाधीश एडीजे द्वितीय विकास कुमार ने कोरमा थाना क्षेत्र के मुरारपुर गांव निवासी लड्डू राम के पुत्र घनश्याम ढाढी को शराब निर्माण और तस्करी के मामले में दस साल की सश्रम कारावास और छ: लाख रुपए का जुर्माना लगाया है। वहीं अर्थदंड का भुगतान नहीं करने पर छ: माह की अतिरिक्त सजा भुगतने का आदेश दिया है।

चार महीने में दिलाई गई सजा

वहीं मामले की सुनवाई के दौरान न्यायालय ने उसे बृहस्पतिवार को दोषी पाया गया था। घनश्याम ढाढी को इसके पूर्व भी न्यायालय के द्वारा एक अन्य शराब तस्करी के मामले में सजा सुनाई जा चुकी है। वहीं इस बार दस साल की सजा दी गयी। इस संबंध में जानकारी देते हुए उत्पाद अधिनियम के विशेष लोक अभियोजक, जिला अभियोजन पदाधिकारी प्रभारी संजय कुमार ने बताया कि शराब मामले में दूसरी बार दोषी पाए जाने के बाद कम से कम दस बर्ष के सश्रम कारावास का प्रावधान है । उन्होंने बताया कि उत्पाद थाना शेखपुरा के उत्पाद दरोगा अनिल कुमार के नेतृत्व में इसी साल सात जनवरी को तड़के घनश्याम ढाढ़ी को 35 लीटर देसी शराब के साथ गिरफ्तार किया था। आरोप पत्र दाखिल करने के बाद छ: जून को न्यायालय द्वारा आरोप गठन किया गया। उसके बाद स्पीडी ट्रायल चलाकर उसे चार माह में सजा दिलाई गयी। वह शराब के अन्य मामलों सहित इस मामले में उसी दिन से जेल में बंद है। इस मामले में अभियोजन द्वारा ठोस साक्ष्य न्यायालय में प्रस्तुत किए गए। बरामद शराब के नमूने के साथ-साथ गवाहों ने अभियुक्त की पहचान करने में भी सफलता पाई।